उत्तर भारत में शीत लहर का प्रकोप, 45 ट्रेनें रद्द


नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में रविवार को सर्दी रही और न्यूनतम तापमान ११.४ डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से ४ डिग्री ज्यादा था, जबकि अधिकतम पारा मौसम के औसत तापमान से तीन डिग्री ऊपर रहते हुए १७.२ डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया। सुबह के समय हल्का कोहरा होने की वजह से ४५ ट्रेनों को रद्द करना पड़ा और १४ अन्य देरी से चलीं। उत्तर भारत में शीत लहर जारी है और पहाड़ी क्षेत्रों में पारा सामान्य से कई डिग्री नीचे है तो वहीं, कोहरे की वजह से ४५ ट्रेनें रद्द की गईं और कम से कम १४ ट्रेने देरी से चल रही हैं। वहीं, आईजीआई के एक प्रवक्ता ने बताया कि उड़ानों का संचालन ठीक रहा। हिमाचल प्रदेश में, पारा सामान्य दो से चार डिग्री नीचे बना हुआ है। हालांकि क्षेत्र में सुबह के वक्त आसमान साफ था, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही आसमान में आंशिक रूप से बादल छा गए और मध्य तथा ऊंची पहाड़ियों से तेज बर्फीली हवांए चलने लगीं। राज्य का सबसे सर्द इलाका केलांग रहा, जहां पर न्यूनतम तापमान शून्य से ४.६ डिग्री सेल्सियस कम रिकॉर्ड हुआ, जबकि मनाली और काल्पा में न्यूनतम तापमान क्रमश: शून्य से २.६ डिग्री नीचे और शून्य से १.० डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया। कश्मीर घाटी और लद्दाख क्षेत्र में शीत लहर और प्रचंड हो गई और समूचे मंडल में पारा गिरा है, जिस वजह से शुष्क मौसम बना हुआ है। लेह शहर में पारा सात डिग्री सेल्सियस तक गिरा है और राज्य का सबसे सर्द इलाका रहा। करगिल शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से १३.८ डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज हुआ, जबकि श्रीनगर में शून्य से ४ डिग्री कम रिकॉर्ड किया गया। वहीं दूसरी ओर पंजाब और हरियाणा में न्यूनतम तापमान सामान्य से कई डिग्री ज्यादा बना हुआ है। वहीं, नारनौल दोनों राज्यों का सबसे ठंडा क्षेत्र रहा, जहां का न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। राजस्थान के कई हिस्सों में शीत लहर का असर जारी है और चुरू राज्य का सबसे ठंडा इलाका रहा। यहां का तापमान ३.९ डिग्री दर्ज किया।