इलाहाबाद में भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू


इलाहाबाद : उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद में रविवार को बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू हो गई. दो दिन तक संगम किनारे मिशन यूपी पर होने वाले महामंथन में प्रधानमंत्री मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह समेत बीजेपी के तमाम दिग्गज मौजूद रहेंगे

सूत्रों की माने तो उत्तर प्रदेश चुनाव को ध्यान में रखते हुए भाजपा, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी जैसी विरोधी पार्टियों के खिलाफ भी रणनीति बनाएगी. वहीं टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में भाजपा फिलहाल सीएम उम्मीदवार का चेहरा तय नहीं करेगी, यह सितंबर में ही होगा. राष्ट्रीय कार्यकरिणी की बैठक के बाद सर्वे भाजपा कराएगी और सर्वे के बाद ही मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार का ऐलान किया जाएगा.

बैठक के पहले पूरा शहर भाजपा के पोस्टर से पट गया है. सबसे अधिक यहां भाजपा नेता वरुण गांधी के पोस्टर नजर आ रहे हैं. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एवं अन्य नेता हिस्सा लेंगे. बैठक में केंद्रीय मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्य, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और सांसद हिस्सा लेंगे जो राज्य में विधानसभा चुनाव का एजेंडा तय कर सकती है.

पीएम के लिए बना खास कार्यालय

बताया जाता है कि प्रधानमंत्री के साथ ही पीएमओ के तमाम अधि‍कारी भी इलाहाबाद पहुंच रहे हैं. उनके लिए खास कार्यालय बनाया गया है, जहां बकायदा कंप्यूटर और इंटरनेट की सुविधा है. अधिकारी अगले दो दिनों तक कार्यालय संबंधी सभी काम यहीं से निपटाएंगे. इस ‘पीएमओ’ को योग दिवस के लिए बने खास बैकड्रॉप से सजाया गया है. पोस्टर में सूर्य नमस्कार की मुद्राएं दर्शाई गई हैं. इसके निकट ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का दफ्तर भी बनाया गया है.

14 साल के वनवास को दूर करने का मौका

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री की मौजूदगी इस बात का सबूत है कि पार्टी के लिए यूपी चुनाव काफी अहम है. लोकसभा चुनाव में पार्टी को यूपी की 80 सीटों में से 73 पर जीत मिली थी. लिहाजा, विधानसभा चुनाव को लेकर भी हौंसले बुलंद हैं और पार्टी को लग रहा है कि 14 साल के वनवास को दूर करने का यह सही मौका है.

इनमें से कोई होगा सीएम पद का उम्मीदवार

यूपी में बीजेपी को सबसे अधि‍क माथापच्ची मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार को लेकर करनी पड़ेगी. यही पार्टी की सबसे बड़ी चुनौती है. हालांकि, राज्य में ढेरों स्वयंभू उम्मीदवार सामने आ गए हैं, लेकिन सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में जिन नामों पर विचार होगा उनमें केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति इरानी, केंद्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य प्रमुख हैं.

सुरक्षा के व्यापक इंतजाम

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारणी की आज से शुरू हो रही दो दिवसीय बैठक के मद्देनजर इलाहाबाद में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किये गए हैं. पीएम मोदी की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) गुरुवार को यहां पहुंच गया और उसके बाद से कायस्थ पाठशाला खेल मैदान में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने में जुटा है. इस स्थान पर विशाल एवं वातानुकूलित शामियाने के तले यह बैठक होगी. यहीं पवित्र संगम के पास परेड ग्राउंड के पास सोमवार को एक रैली का भी आयोजन किया जायेगा. एसपीजी यहां सर्किट हाउस की सुरक्षा व्यवस्था की भी समीक्षा कर रही है जहां पर प्रधानमंत्री के 12-13 जून की दरमियानी रात को रुकने की संभावना है. सुरक्षा व्यवस्था में उत्तरप्रदेश पुलिस ने 20 जिलों से जवानों को लगाया है. इलाहाबाद जोन के पुलिस महानिरीक्षक आरके चतुर्वेदी के अनुसार, 18 एसपी रैंक के अधिकारियों, 30 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और 50 सर्किल आफिसर (डीएसपी रैंक) के अधिकारी 2500 कांस्टेबल और प्रांतीय सशस्त्र बल के 1800 जवानों को शहर में सुरक्षा व्यवस्था एवं यातायात का प्रबंधन करने के काम में लगाया गया है. उन्होंने कहा कि इसके साथ ही बम निष्क्रिय करने वाले दल और श्वान दस्ते को भी सेवा में लगाया गया है.