आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के पर्यटन को विश्वकप से बढ़ावा मिलेगा


नई दिल्ली। इस साल फरवरी-मार्च में भले ही ६ हजार अधिक भारतीय आस्ट्रेलिया की यात्रा पर जा सकते हैं। पर्यटन उद्योग के बावजूद यह सिलसिला जारी
रहेगा।
आस्ट्रेलिया पर्यटन के कन्ट्री मैनेजर निशांत काशिकर का कहना है कि पिछले साल फरवरी और मार्च के बीच ३२ हजार पर्यटकों को आस्ट्रेलिया की यात्रा भी की थी, उम्मीद है कि इस साल इन्हीं महीनों में पर्यटकों की संख्या ३८ हजार तक पहुंच जाएगी। यह उम्मीद एजेंटों के इस फीड बैक पर आधारित है कि विश्वकप क्रिकेट के चलते ६ हजार पर्यटकों की वृद्धि होगी। काशिकर के अनुसार विश्वकप का खुमार क्रिकेट सीजन खत्म हो जाने के बाद भी बरकरार रहेगा। टूरिज्म विक्टोरिया की बीना मेनन का कहना है कि यह एक अच्छा मौका है जब यात्री अवकाश को आगे बढ़ा सकते हैं। इस तरह के आयोजन के बाद पर्यटकों की संख्या में वृद्धि की उम्मीद है। स्पोटर््स कोनैक्स के चीफ एक्जीक्यूटिव आफिसर शशांक मिश्रा के अनुसार अभी तक तीन हजार बुविंâग हो चुकी है। भारत पाकिस्तान और भात दक्षिण अप्रâीका मैच के परिणाम भारत में जाने वाले पर्यटकों की संख्या तय करेंगे। बताया जाता है कि लगभग ७० प्रतिशत बुविंâग कारपोरेट ने उनके कर्मचारियों और व्यापारिक भागीदारों से संबंध बनाने के लिए की है। सूत्रों के मुताबिक दिसंबर २०१४ और जनवरी २०१५ में आस्ट्रेलिया उच्चायोग को २५,३१४ पर्यटन वीजा आवेदन प्राप्त हुए हैं।