आसाराम के गवाह का मुजफ्फरनगर में मर्डर


० बलात्कार के मामले में आसाराम जेल में हैं
लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बलात्कार के आरोप में जेल में बंद आसाराम और नारायण सार्इं के पूर्व सेवादार अखिल की गोलीमार कर हत्या कर दी गई है। अखिल आसाराम के खिलाफ केस में पुलिस का अहम गवाह था। वह काफी समय से मुजफ्फरनगर में ही रह रहा था। रविवार देर शाम अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने अखिल की गोली मार कर हत्या की है। इस मामले की जांच पुलिस कर रही है। ३५ वर्षीय अखिल गुप्ता की मुजफ्फरनगर के न्यू मंडी पुलिस थाना क्षेत्र में जानसठ रोड पर अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी। अखिल उस समय घर लौट रहा था। पुलिस ने बताया कि अखिल को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित किया है।
गौरतलब है कि अखिल ७ साल तक आसारम का रसोईया और निजी सहायक रह चुका है और उसने पुलिस के सामने आसाराम के कई राज खोलकर रख दिए थे। सूरत की जिन दो बहनों ने आसाराम के खिलाफ यौन शोषण का मामला दर्ज कराया था, उसी रिपोर्ट में अखिल का नाम भी शामिल था। इस रिपोर्ट के बाद ही सूरत पुलिस उसे मुजफ्फरनगर से गवाह बनाने के लिए सूरत लेकर भी गई थी। अखिल इस मामले में एक गवाह था और उसने गुजरात के गांधीनगर की अदालत में अपना बयान भी दर्ज कराया था। सूरत की दोनों बहनों ने रिपोर्ट में आसाराम के खिलाफ वर्ष २००१ में शांति कुटिया में दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। अखिल इस वारदात के समय आश्रम में मौजूद था। अखिल की हत्या से एक बार फिर आसाराम और उनका बेटा नारायण सार्इं चर्चा के वेंâद्र में हैं।