आसाराम ‘कलंकी’ : साधुओं ने आश्रम को किया गंगाजल से पवित्र


उज्जैन। नाबालिग से रेप के आरोप में जेल की हवा खा रहे आसाराम बापू को कलंक बताते हुए उनके आश्रम पर बुधवार को निरमोही अखाड़ा से जुड़े साधुओं ने हमला बोला दिया। मध्यप्रदेश के उज्जैन में स्थित उनके आश्रम में घुसकर तोड़-फोड़ मचाई। शुक्रवार से शुरू होने वाले सिंहस्थ कुंभ मेले के लिए वह आश्रम निरमोही अखाड़ा से जुड़े साधुओं को प्रशासन की ओर से रहने के लिए दिया गया था। उसके बाद दोपहर में साधु आश्रम में पहुंच गए और वहां आसाराम से जुड़ी हर चीज को तोड़ा-फोड़ा कर डाला। आश्रम में लगी उनकी तस्वीरों और हॉर्डिंग्स को फाड़ दिया गया। मीडिया सूचना के अनुसार तोड़-फोड़ के बाद आश्रम को गंगा जल से पवित्र भी किया गया। बताया जा रहा है कि आसाराम समर्थकों को आश्रम खाली करने के लिए बोला गया था, परन्तु उन्होंने समय पर खाली नहीं किया था। जिसके बाद साधुओं ने आश्रम में जमकर तोड़-फोड़ किया है।

आसाराम-नारायण की बढ़ रही है परेशानियां
आसाराम और नारायण साई फिर परेशनियां बढ़ रही है। इनकम टैक्स विभाग ने 2500 करोड़ रु. की प्रॉपर्टी की रिपोर्ट तैयार की है। इसके आधार पर उनसे 750 करोड़ रुपए से अधिक की वसूली की जाएगी।

परेशनियां बढ़ने पर खोला पासवर्ड
(1) अहमदाबाद में मौजूद एक साधक के घर से दस्तावेजों के 42 थैले मिले थे।
(2) कई लैपटॉप-कंप्यूटर भी बरामद किए थे। ज्यादातर में डबल-पासवर्ड डाले गए थे।
(3) सही पासवर्ड डालने के बाद भी स्क्रीन पर सबसे पहले ‘इन करेक्ट’ का मैसेज आता था।
(4) इससे सही पासवर्ड डालने के बाद भी लगता था कि पासवर्ड गलत है।
(5) डबल पासवर्ड की बात पकड़ में आने पर ही कंप्यूटर, लैपटॉप खुल सके।
(6) इतनी मशक्कत के बाद आसाराम की 2500 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी का खुलासा हुआ था।
(7) इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने इसकी रिपोर्ट तैयार कर सीबीडीटी को भेजी थी और 750 करोड़ का टैक्स कैलकुलेट किया गया।

अरबों की प्रॉपर्टी
(1) आसाराम-नारायण पर 750 करोड़ रुपए का टैक्स लगाने के लिए इनकम टैक्स अफसरों ने देशभर में उनकी 100 से ज्यादा प्रॉपर्टियों का प्रोविजनल तैयार किया है।
(2) इनमें जमीन-प्लॉट सम्म्लित हैं। इसका मतलब ये है कि इन्हें बेचा नहीं जा सकता है।
(3) प्रॉपर्टी की बाजार में कीमत 1500 से 2000 करोड़ रुपए है।