एनडी गुप्ता के नामांकन पर फैसला सोमवार को


नई दिल्ली (ईएमएस)। आम आदमी पार्टी की ओर से राज्यसभा के लिए उतारे प्रत्याशियों को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। दाखिल तीन नामांकन की स्क्रूटनी के बाद एक प्रत्याशी का नामांकन रद्द होने का खतरा मंडराने लगा है। रिटर्निंग ऑफिसर ने जहां दो प्रत्याशियों संजय सिंह और सुशील गुप्ता के नामांकन को हरी झंडी दे दी है वहीं एनडी गुप्ता के नामांकन को लेकर मिली शिकायत के बाद उस पर सोमवार को फैसला सुनाने की बात कही है। दरअसल 5 जनवरी को नामांकन दाखिल करने का आखिरी मौका था। आम आदमी पार्टी से संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता ने नामांकन दाखिल किया है। किसी अन्य के नामांकन न करने पर तीनों का निविर्रोध चुना जाना तय था। नामांकनों की स्क्रूटनी शनिवार को होनी थी। जब स्क्रूटनी शुरू हुई कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अजय माकन दरियागंज स्थित रिटर्निंग ऑफिसर कार्यालय के पास शिकायत के लेकर पहुंचे। नामांकन दाखिल करने वाले एनडी गुप्ता पर नेशनल पेंशन ट्रस्ट में पद होने की बात कहकर ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का आरोप लगाया और उससे संबंधित दस्तावेज भी सौंपे। इसके बाद रिटर्निंग ऑफिसर निधि श्रीवास्तव ने तीनों उम्मीदवारों को बुलाकर बारी-बारी से स्क्रूटनी की। पहले राउंड में संजय सिंह को और उसके बाद सुशील गुप्ता को हरी झंडी दे दी गई, लेकिन एनडी गुप्ता के नामांकन को लेकर की गई शिकायत पर रिटर्निंग ऑफिसर ने उनके जवाब से संतुष्ट नहीं होने पर ऑफिस ऑफ प्रॉफिट की शिकायत पर जांच शुरू की। फैसला सुनाने को कहा है। रिटर्निंग ऑफिस में अपना पक्ष रखकर निकले एनडी गुप्ता का कहना है कि अजय माकन जिस नेशनल पेंशन ट्रस्ट (एनपीएस) की बात कर रहे है उसमें मैंने अपने पद से बीते दिसंबर में ही इस्तीफा दे चुका हूं। पेंशन ट्रस्ट का पद लाभ के पद से बाहर है। मैने रिटर्निंग ऑफिसर के सामने अपना पक्ष रख दिया है।