आज हाजी अली जाएंगी तृप्ति देसाई : सुरक्षा बढ़ी


नई दिल्ली। शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं को प्रवेश दिलाने के बाद भूमाता ब्रिगेड की प्रमुख तृप्ति देसाई अब मुंबई की हाजी अली दरगाह में महिलाओं को इबादत का हक दिलाने की मुहिम पर निकली है। तृप्ति गुरुवार को मुंबई के हाजी अली दरगाह के बाहर शांतिपूर्ण प्रदर्शन करेंगी और महिलाओं को दरगाह में इबादत का इजाजत देने की मांग करेंगी। उनके इस कदम के विरोध में एमआईएम और दूसरे धार्मिक संगठन एकजुट हो गए हैं, वहीं टकराव की स्थिति से निपटने के लिए पुलिस ने एहतियातन दरगाह के चारों ओर बैरिकेडिंग कर उसकी घेराबंदी कर ली है।
इस बीच देसाई ने कहा है कि वे लोग दरगाह के बाहर शांतिपूर्ण प्रदर्शन करेंगे। वहां माथा टेकेंगे। इसके बाद वे अगले दिन आगे की कार्रवाई पर निर्णय लेंगे। तृप्ति ने इस मामले में बॉलीवुड के तीन खान सितारों, सलमान, शाहरूख और आमिर से अपील की है कि वे इस मामले में अपना रुख साफ करें। उन्होंने कहा कि उनका सोचना है कि शाहरूख खान, सलमान और आमिर खान को भी इस मसले पर अपना विचार रखना चाहिए। इससे उनके फैन्स भी उनके इस आंदोलन से जुड़ेंगे और समानता की इस लड़ाई में उनका समर्थन करेंगे। आरएसएस में महिलाओं के शामिल करने की मांग पर उन्होंने कहा कि मोहन भागवत एक प्रगतिशील विचारक हैं। वह उनकी मांग का सम्मान करेंगे।

बता दें कि तृप्ति देसाई के इस ऐलान के बाद शिवसेना नेता हाजी अराफात ने उनको ऐसा करने पर मारने की धमकी दी थी। उन्होंने कहा कि वह इसकी निंदा करते हैं। उनको अनुमति नहीं दी जाएगी। इसी कड़ी में एमआईएम के एक नेता ने देसाई को कालिख पोतने की धमकी दी है। एमआईएम नेता रफत हुसैन ने कहना है कि अगर तृप्ति देसाई दरगाह में जबरन घुसने की कोशिश करती है, तो उनके ऊपर काली स्याही फेंकी जाएगी। हुसैन ने कहा, हमारे धर्म के खिलाफ जाएंगे तो हम कालिख 100 फीसदी पोतेंगे।