आईएमएफ में कोटा संबंधी और सुधार की पीएम की वकालत


नई दिल्ली। अंतरार्ष्ट्रीय मुद्रा कोष की ओर से आयोजित किए गए एडवांसिंग एशियाः भविष्य की तलाश कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी बात को दोहराते हुए कहा कि 21वीं सदी एशिया की है, जिसमें भारत अगली कतार में है ।  उन्होने  कहा कि भारत हमेशा से बहुआयामी विकास में यकीन करता है। मोदी ने कहा कि सलाहों के अलावा भी आईएमएफ नीति निर्माण पर अहम असर डाल सकता है। आईएमएफ की एमडी क्रिस्टीन लेगार्ड ने आधार कार्ड की तारीफ करते हुए कहा कि भारत में सब्सिडी दिए जाने के लिए आधार कार्ड के इस्तेमाल से लक्षित लोगों तक लाभ पहुंचाने में आसानी होगी। पीएम मोदी ने कहा कि कोटा समीक्षा के लिए साल 2010 में सहमति के बाद अब इसपर अमल करने की शुरुआत अच्छी बात है। पीएम ने कहा कि वैश्विक संस्थाओं में लगातार सुधार की कोशिश की जा रही है। फिलहाल आईएमएफ कोटा वैश्विक आर्थिक हालात को नहीं दर्शाता। यह खुशी की बात है कि आईएमएफ ने अक्टूबर 2017 तक कोटा सिस्टम में सुधार लाने की बात कही है। आगे मोदी ने कहा कि एसिया में सबसे अधिक संख्या में राजनेता है। भारत के 4 राज्यों को महिला मुख्यमंत्री सफलता पूर्वक संभाल रही है। ये सब लोकतांत्रिक तरीके से चुन कर आई है।