असम में भाजपा के ‘अच्छे दिन’ : ममता और जया वापसी की राह पर


नई दिल्ली। असम में 126 विधानसभा सीटों पर, पश्चिम बंगाल में 294, केरल में 140, तमिलनाडु में 234 और पुद्दुचेरी में 30 सीटों पर गुरुवार को वोटों की गिनती जारी है।

उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के बिलारी और गाजीपुर के जंगीपुर सीटों के लिए हुए उपचुनाव की मतगणना भी शुरू हो चुकी है। शुरूआती रुझानों में बिलारी सीट से भाजपा के सुरेश सैनी सपा के फहीम से 5200 वोटों से आगे चल रहे हैं। वहीँ कांग्रेस के शिशुपाल तीसरे नंबर पर हैं। ऊधर गाजीपुर से समाजवादी पार्टी की किस्मती देवी 6500 मतों से भाजपा उम्मीदवार रमेश से आगे चल रही हैं।

पूर्वाह्न 11 बजे तक प्राप्त रुझानों के अनुसार असम में पहली बार भाजपा की, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी और तमिलनाडु में जयललिता की सरकारें दूसरी बार बनती नजर आ रही है।

तमिलनाडु में पहली बार वर्ष 1984 के बाद जनता ने किसी एक पार्टी को लगातार दूसरी बार सत्ता में पहुंचने का मौका दिया है। मुख्यमंत्री जयललिता को इस बार भी पूर्ण बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है। राज्य में डीएमके और कांग्रेस गठबंधन को करारा झटका मिला है। उधर, केरल में भी कांग्रेस के हाथ से सत्ता छिनती दिखाई दे रही है, और वामदल स्पष्ट बहुमत हासिल करने जा रहे हैं।

पश्चिम बंगाल में भी सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी की वापसी लगभग तय दिख रही है। पार्टी को दो-तिहाई से भी अधिक बहुमत मिलता दिखाई पड़ रहा है। इसके बाद कांग्रेस को उनसे ज़्यादा सीटें मिलने के आसार हैं जबकि वामदल तीसरे नंबर पर खिसकते दिखाई दे रहे हैं। असम में पहली बार भाजपा गठबंधन की सरकार बनना तय है जबकि पुद्दुचेरी एकमात्र राज्य है, जहां कांग्रेस को कुछ सीटें मिलने के आसार दिख रहे हैं, लेकिन वहां भी एनआरसी से उनकी टक्कर कांटे की है।

पूर्वाह्न 11 बजे तक पश्चिम बंगाल से सभी 294 सीटों के रुझान हासिल हो चुके थे, जिनमें से 216 पर तृणमूल गठबंधन और 37 सीटों पर कांग्रेस आगे चल रही थी। बीजेपी को 10 और वामदलों को 30 सीटों पर बढ़त मिल रही है, जबकि एक सीट पर अन्य प्रत्याशी आगे चल रहे हैं।

असम में हो रही मतगणना में 126 सीटों में से 73 पर भाजपा के प्रत्याशी आगे हैं, जबकि कांग्रेस 32 और एयूडीएफ 13 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं, और 8 सीटों पर अन्य प्रत्याशी आगे हैं।

केरल से मिले सभी 140 रुझानों में से वामदलों का गठबंधन 88 सीटों पर और कांग्रेस-नीत यूडीएफ 50 सीटों पर आगे है। भाजपा को केरल में भी एक सीट पर बढ़त मिल रही है, जबकि एक सीट पर अन्य प्रत्याशी आगे चल रहे हैं।

तमिलनाडु में 228 रुझान हासिल हुए हैं, जिनमें से 130 सीटों पर सत्तारूढ़ जयललिता की पार्टी एडीएमके आगे है, जबकि डीएमके के उम्मीदवार 89 सीटों पर आगे हैं, और 7 सीटों पर पीएमके के प्रत्याशी आगे हैं।

पुद्दुचेरी में अब तक 28 रुझान हासिल हो चुके हैं, और कांग्रेस के उम्मीदवार 13 पर आगे चल रहे हैं, जब 12 सीटों पर एनआरसी के प्रत्याशी बढ़त बनाए हुए हैं, और एक सीट पर अन्य तथा 2 सीटों पर जयललिता की एडीएमके के प्रत्याशी आगे चल रहे हैं।