असंतुष्ट भाजपा ने की सीबीआई जांच की मांग


-मुजफ्फरनगर दंगे पर विष्णु सहाय आयोग की जांच रिपोर्ट से
लखनऊ।मुजफ्फरनगर के साम्प्रदायिक दंगों पर विधानसभा में पेश विष्णु सहाय आयोग की जांच रिपोर्ट को भाजपा ने अर्धसत्यों का घालमेल बताते हुए सीबीआई जांच की मांग की है। वर्ष २०१३ में हुए दंगों पर सपा सरकार द्वारा गठित आयोग की रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारतीय जनता पार्टी विधानमण्डल दल के नेता सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि इस जांच रिपोर्ट में सारे बिन्दुओं का विवेचन और विचार नहीं दिखाई पड़ता है। उन्होंने कहा कि यह रिपोर्ट एक पक्षीय है, अधूरी भी है और असली अभियुक्तों व दंगों के वास्तविक कारणों पर प्रकाश नहीं डालती। खन्ना ने कहा कि मुजफ्फरनगर का दंगा सरकारी नीति व सरकारी मशीनरी की असफलता की देन था। यह दंगा प्रभावी मंत्रियों के हस्तक्षेप के कारण अनियंत्रित हुआ।
खन्ना ने कहा कि सरकार ने मुजफ्फरनगर की प्राराqम्भक घटनाओं पर फौरी कार्रवाई नहीं की। सरकार दंगों को नियंत्रित करने के लिए समुचित कार्यवाही करती तो यह दंगे नही भड़कते। प्रशासनिक असफलता और सरकार की पक्षपातपूर्ण नीति से जनधन की व्यापक हानि हुई। सरकारी अभिसूचना तंत्र भी असफल रहा है। खन्ना ने कहा कि सरकार ने अपना अपराध भाजपा पर मढा था। भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को अकारण महीनों तक जेल में निरुद्ध किया गया। वे न्यायालय के हस्तक्षेप से छूटे। रिपोर्ट कई चीजों पर मौन है। अगर आयोग गहनता से छानबीन करता तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता।