अब विवादित बयान नहीं देंगे केजरीवाल?


० चुनाव आयोग ने दी फिर चेतावनी
नईदिल्ली । दिल्ली विधानसभा चुनाव में रिश्वत वाले बयान पर चुनाव आयोग की कड़ी चेतावनी के बाद आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरिंवद केजरीवाल इस तरह का बयान देने से बचते दिख रहे हैं। आयोग ने मंगलवार को स्पष्ट शब्दों में केजरीवाल को बता दिया था कि शाम ७.०० बजे के बाद उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान इस तरह का बयान दिया तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। शाम ७.०० बजे के करीब पटपड़गंज में केजरीवाल की जनसभा हुई और वहां उन्होंने इस बयान से परहेज किया। हालांकि, शाम से पहले उनकी दो रैलियां बाबरपुर और शाहदरा में हुई थीं।
बताया जा रहा है कि इन रैलियों में केजरीवाल ने अपने रिश्वत वाले बयान को सही ठहराया था। जनसभा में उन्होंने लोगों से कहा कि कांग्रेस और बीजेपी से पैसे लो और आम आदमी पार्टी को वोट दो। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी के नेता आपके पास पैसे लेकर आएंगे। अगर वह आपको पैसे दें तो बिल्कुल भी मना मत करना, उनसे पैसे लेकर रख लेना। साथ ही यह भी याद रखना पैसे सबसे लेकर वोट आम आदमी पार्टी को ही देना।’ इससे पहले भी दोनों र्पािटयों ने उन पर आदर्श अचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए केजरीवाल की शिकायत की थी।
मुख्य चुनाव आयुक्त एच.एस.ब्रह्मा के नेतृत्व में आयोग की टीम ने मंगलवार को आदेश जारी कर कहा कि केजरीवाल ने लिखित में कहा था कि अगर आयोग को उनके बयान नियम विपरीत लगते हैं तो वह फिर ऐसा बयान नहीं देगे। लेकिन नोटिस मिलने के बावजूद वह लगातार ऐसे बयान देते रहे। अगर वह आगे भी इस मुद्दे पर आचार संहिता का उल्लंघन करते हैं तो उनके खिलाफ कड़ा ऐक्शन लिया जा सकता है। इससे पहले चुनाव आयोग ने केजरीवाल को बीजेपी पर दंगा पैâलाने का आरोप लगाने वाले बयान पर भी चेतावनी देते हुए कहा था कि चुनाव में धर्म का इस तरह इस्तेमाल अच्छा नहीं है।