अंतर्राष्ट्रीय फ्लीट रिव्यू का हुआ आगाज, राष्ट्रपति को गार्ड ऑफ ऑनर


फ्लीट रिव्यू में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी
विशाखापट्टनम। विशाखापट्टनम में अंतरराष्ट्रीय फ्लीट रिव्यू की औपचारिक शुरूआत राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को गार्ड ऑफ ऑनर देने के साथ हुई। प्रणब मुखर्जी के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री मनोहर र्पिरकर और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू इस मौके पर मौजूद हैं। सुबह ९ बजे शुरू हुए अंतरराष्ट्रीय फ्लीट रिव्यू में ५० देशों के करीब १०० जंगी जहाज भाग ले रहे हैं। यही नहीं २४ विदेशी युद्ध पोत भी यहां लाई गर्इं हैं। आपको बता दें कि इस आयोजन में ७५ भारतीय नौसैनिक पोत भी हिस्सा ले रही हैं। इस आयोजन में अमेरिका, रूस, प्रâांस, ब्रिटेन, चीन और जापान समेत कई देश शामिल हैं। जंगी जहाजों का यह मेला दोपहर करीब पौने बारह बजे तक चलेगा। सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस कार्यक्रम में पहुंच गए और रक्षा मंत्री मनोहर र्पिरकर ने उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री मोदी के बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी कार्यक्रम में पहुंचे। राष्ट्रपति चूंकि सशस्त्र बलों के सशस्त्र कमांडर होते हैं, वह ‘प्रेजीडेंट्स फ्लीट रीव्यू’ के तहत अपने कार्यकाल में एक बार भारतीय नौसेना बेड़े की समीक्षा करते हैं।
देश में अब तक के सबसे बड़े सैन्य आयोजन के लिए नौसेना ने भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है। पूरे विशाखापत्तनम में सीसीटीवी वैâमरों का जाल बिछाया गया है। यहां १० हजार पुलिस जवानों को तैनात किया गया है। इसके अलावा राज्य की विशेष एंटी टेरर फोर्स ऑक्टोपस के ३५० से ज्यादा कमांडो यहां लगाए गए हैं। साथ ही नौसेना के स्पेशल मरीन कमांडो मार्को़ज भी तैनात किए गए हैं।
अंतरराष्ट्रीय बेड़ा समीक्षा मेजबान देश को एक मौका देता है कि वह अपने समुद्री सुरक्षा क्षमताओं के साथ ही उस ‘मित्रता के सेतु’ का प्रदर्शन करे जो उसने अन्य समुद्री देशों के साथ र्नििमत किया है।’ इसमें कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय बेड़ा समीक्षा-२०१६ पहले की तुलना में अधिक व्यापक पैमाने पर आयोजित होगा क्योंकि, इसमें ५० देश हिस्सा लेंगे। पिछली बार अंतरराष्ट्रीय बेड़ा समीक्षा जनवरी २००१ में मुंबई के पास हुआ था, जिसमें २९ देशों ने हिस्सा लिया था। राष्ट्रपति शनिवार से आंध्र प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर हैं।