सूरत – अब मूसलाधार बरसात में भी लिंबायत शहर से जुड़ा रहेगा : सी.आर.पाटील


महानगरपालिका द्वारा शहर के विभिन्न क्षेत्रों में 125 करोड़ की लागत से नवनिर्मित प्रकल्पों का लोकार्पण महापौर डॉ. जगदीश पटेल के हाथों किया।
Photo/Loktej

लिंबायत-उधना को जोडने ‘छत्रपति शिवाजी महाराज’ रेलवे ओवर ब्रिज का लोकार्पण

सूरत। महानगरपालिका द्वारा गुरूवार को शहर के विभिन्न क्षेत्रों में 125 करोड़ की लागत से नवनिर्मित प्रकल्पों का लोकार्पण महापौर डॉ. जगदीश पटेल के हाथों किया गया। इस अवसर पर महापौर ने लिंबायत के निलगिरी सर्कल के पास रतन चौक में मुख्य कार्यक्रम के दौरान सभा को संबोधित किया गया।

महापौर डॉ.जगदीश पटेल ने कहा कि पिछले चार महीनों के दौरान पालिका द्वारा शहर में करीबन 3000 करोड के प्रकल्पों का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया गया। आज लोकार्पित उधना-लिंबायत रेलवे ओवर ब्रिज इस क्षेत्र के 6 से 7 लाख लोगों को आवाजाही के लिए उपयोगी साबित होगा। सूरत शहर का विकास अन्य शहरों के मुकाबले बहुत तेज गती से हो रहा है। 1995 से पहले सूरत में मात्र छोटे-बडे 13 ब्रिज थे, आज यह 115वें ब्रिज का लोकार्पण हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी जो योजनाओं को अमल में लाए उन्हे सांसद सी.आर.पाटील ने तेज गति से लोगों तक पहुचाने के लिए समग्र देेश में अनोखा उदाहरण दिया है।

इस अवसर पर सांसद सी.आर .पाटील ने कहा कि आज एक साथ 125 करोड के पालिका के प्रकल्पों का लोकार्पण होने जा रहा है इसलिए पालिका का आभार व्यक्त करता हूं। उधना-लिंबायत को जोड़ने वाला यह एक मात्र ब्रिज है। इस ब्रिज के निर्माण से कितनी भी मूसलाधार बरसात में लिंबायत सूरत शहर से जुड़ा रहेगा। उधना-लिंबायत ब्रिज का पालिका द्वारा नामकरण किए जाने के बाद यह ब्रिज ‘छत्रपति शिवाजी महाराज ब्रिज’ के नाम से पहचाना जायेगा।

लिंबायत क्षेत्र से विधायक संगीताबेन पाटील ने कहा कि इस ब्रिज के निर्माण से यातायात में आसानी होगी। पहले के समय का लिंबायत और आज के लिंबायत में जमीन-आसमान का फर्क है। इस ब्रिज के निर्माण हेतु महापौर तथा पालिका की टीम का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर विधायक विवेक पटेल, उप महापौर निरव शाह, शासक पक्ष नेता गिरिजाशंकर मिश्रा, सार्वजनिक निर्माण समिति के अध्यक्ष सोमनाथ मराठे, गटर समिति के अध्यक्ष अमित सिंह राजपूत सहित स्थानीय पार्षद उपस्थित रहे।