सूरत : टेक्सटाईल मार्केट की जमीन की लीज 127 करोड रु. में होगी रिन्यू


लोकसभा चुनाव की आचारसंहिता लागू होने से पूर्व स्थायी समिति में पिछले कुछ समय से लंबित कामों को आज स्थायी समिति में मंजूर करने का निर्णय लिया।

एक्सपेरिमेन्टल स्कूल की जमीन का भाड़ा करार 30 साल के लिए 4.78 करोड से रिन्यु होगा

सूरत। लोकसभा चुनाव की आचारसंहिता लागू होने से पूर्व सूरत महानगर पालिका की स्थायी समिति में पिछले कुछ समय से लंबित कामों को मंजूर करने का निर्णय लिया गया। टेक्सटाईल मार्केट की जमीन की लीज 2011 की जंत्री के भाव के अनुसार रिन्यू करने, एक्सपेरिमेन्टल स्कूल की जमीन की लीज वर्ष 2000 की जंत्री अनुसार रिन्यू करने, वेड वरियाव ब्रिज के लिए लाईनदोरी का अमल तथा जमीन संपादन करने सहित विविध कामों को शासकों ने मंजूर किया।

स्थायी समिति अध्यक्ष अनिल गोपलाणी ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि परवत-मगोब टीपी स्कीम नं. 19, फाईनल प्लोट नं. 115 में क्रिकेट प्ले ग्राऊन्ड के संचालन तथा रखरखाव के लिए नये नियमों तथा दर तय करने पर स्थायी समिति में निर्णय लिया। ग्राउन्ड का किराया 6600 से घटाकर 5000 रुपये रखा और अगर माफी देनी पड़ी तो अधिक से अधिक 50 प्रतिशत की माफी स्थायी समिति दे सकेगी।

द सूरत टेक्सटाईल मार्केट हाऊसिंग प्रा. लि. को पालिका ने 24435 वर्ग मीटर जमीन 50 साल के लिए किराए पर दी थी, उसकी लीज पूर्ण हो चुकी है। जमीन की लीज रिन्यू कराने के लिए गत स्थायी समिति में मार्केट एसोशिएशन के चार पदाधिकारियों ने उपस्थित रहकर स्थायी समिति के समक्ष अपना पक्ष रखा था। स्थायी समिति ने वर्ष 2011 की जंत्री के भाव अनुसार 52250 प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से 24435 वर्ग मीटर के लिए 127 करोड 67 लाख रुपये वसूलने का निर्णय लिया है। यह राशि प्रथम चार से छ महिने में टेक्सटाईल मार्केट एसोशिएशन पालिका में जमा कराएगा। अगर कोई आपत्ति है तो प्रथम 40 प्रतिशत राशि कि किस्त जमा करे और बाकी 60 प्रतिशत राशि पर 9 प्रतिशत के ब्याज से बकाया राशि वसूली जायेगी। इस प्रकार का निर्णय लेकर स्थायी समिति ने आगामी 50 साल के लिए यह जमीन टेक्सटाईल मार्केट एसोसिएशन को 1 रुपये प्रति वर्ष किराए पर देने का प्रस्ताव पारित किया है।

इसके अलावा अठवा-उमरा टीपी स्कीम नं. 5 फाईनल प्लोट नं. एम-2 सेकन्डरी स्कूल केआरक्षित 12578 वर्ग मीटर जमीन में से रास्ते के 627 वर्ग मीटर जमीन सिवाय की 11951 वर्ग मीटर जमीन रिन्यू करने के लिए वर्ष 2000 की जंत्री के भाव 8000 रुपये प्रति वर्ग मीटर के तहत तय हुआ। यह शैक्षणिक संस्था होने से जंत्री के भाव में 50 प्रतिशत छूट देकर प्रति वर्ग मीटर 4000 के हिसाब से 11951 वर्ग मीटर जमीन 4.78 करोड की लागत से आगामी वर्ष 2030 तक किराए पर देने का निर्णय भी स्थायी समिति में लिया।