माऊन्ट एवरेस्ट फतह कर सूरत लौटीं बहनों अदिती और अनुजा का एयरपोर्ट पर स्वागत देखने योग्य था!


सूरत की प्रतिभावान लड़कियां अदिती वैद्य और अनुजा वैद्य ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है, जो सूरत के लिये ऐतिहासिक है। अदिती और अनुजा दोनों बहनें हैं और उन्होंने मिलकर एक साथ दुनिया की सबसे बड़ी पर्वत-चोटी माऊन्ट एवरेस्ट को फतह किया है।

माउन्ट एवरेस्ट के बेज कैम्प से ३० मार्च को अपना सफर शुरू करने वाली अदिती और अनुजा ने २२ मई को अपना लक्ष्य हासिल किया। समुद्र से २९ हजार २९ फुट की ऊंचाई पर तिरंगा फहरा कर दोनों ने न सिर्फ भारत का नाम बढ़ाया, बल्कि सूरत का का भी नाम रोशन किया है। यह उपलब्धि हासिल करने वाली दोनों गुजरात की पहली महिला हैं।

शुक्रवार को दोनों पर्वतारोही बहनें इस ऐतिहासिक काम को करके सूरत लौटीं। सूरत के हवाई अड्डे पर अदिती और अनुजा का उनके माता-पिता, मित्रों और शुभचिंतकों ने भव्य स्वागत किया।

बता दें कि अदिती और अनुजा शहर के अठवालाईंस क्षेत्र में स्थित आदर्श सोसायटी में रहती हैं और उनके पिता डॉ. आनंद वैद्य आयुर्वेदिक चिकित्सक हैं। अपनी बेटियों की इस उपलब्धि पर वे फूले नहीं समा रहे थे।

अदिती ने लंदन से पोस्ट ग्रेज्युएशन किया है, जबकि अनुजा ने बीआरसीएम कॉलेज, सूरत से बीबीए की डिग्री हासिल की है। मीडिया से बातचीत में दोनों बहनों ने बताया कि उनकी इच्छा अब रशिया के एलब्रस शिखर पर फतह ‌हासिल करने की है।

बता दें कि माऊंट एवरेस्ट पर चढ़ने से पहले उन्होंने फरवरी माह में दक्षिण अमेरिका के २३ हजार फुट ऊंचे माऊंट एकोन्टगुवा पर चढ़ाई की थी।

लोकतेज परिवार की ओर से सूरत की इन प्रतिभावान सितारों अदिती और अनुजा को हार्दिक शुभकामनाएं।