सूरत की एक स्कूल में लगी आग, जागरूक ऑटो चालक की वजह से नहीं हुआ नुकसान


(PC : youtube)

आज से गुजरात राज्य की सरकारी और निजी स्कूलों में नये सत्र का आरंभ हुआ। पहले ही दिन सूरत शहर के एक शाला में आग की घटना घटी।

एक रिपोर्ट के अनुसार, शहर के गोपीपुरा क्षेत्र में स्थित रायचंद दीपचंद स्कूल में आग की वारदात देखी गई। इसी दौरान वहां खड़े एक ऑटो रिक्शा चालक की नजर शाला की मीटर पेटी पर पड़ी जिसमें आग की चिन्गारियां हो रहीं थीं, जो बाद में आग में तब्दिल हो गई। इस पर रीक्षा चालक ने मामले की सूचना शाला के चपरासी को दी। चपरासी और दोनों ने मिलकर तुरंत फायर इक्विपमेंट की मदद से आग पर तुरंत काबू पा लिया। इसके चलते एक बड़ा हादसा टल गया। शाला संचालकों द्वारा घटना की जानकारी दमकल विभाग को दी गई।

उल्लेखनीय है कि आम तौर पर देखा गया है कि आग की घटनाएं शोर्ट सर्किट या मीटर पेटी में आग के कारण घटित होती हैं। जिस समय पर किसी भी इमारत का निर्माणकार्य हो रहा होता है, उस समय एक साथ ढेर सारे मीटर लगाये जाते हैं। एक साथ कई सारे मीटर लगा दिये जाने के बाद जिम्मेदार लोग वर्षों तक संबंधित मीटरों की जांच नहीं कराते और कई बार पुरानी वायरिंग के कारण आग की वारदातें हो जाती हैं। एक साथ ढेर सारे मीटर लगा दिये जाने पर कई बार उनमें शोर्ट सर्किट हो जाती है, और उसके बाद एक के बाद एक सारे मीटर आग की चपेट में आ जाते हैं और आग विकराल रूप धारण कर लेती है। आज जिस शाला में आग लगी वहां कई सारे मीटर लगे हुए थे और वहीं पर चिंगारी के बाद घटना घटी थी।