सूरत पुलिस के “गुड टच बैड टच” अभियान के दौरान सामने आया चौकाने वाला किस्सा


( Photo Credit : indiaparenting.com )

सूरत पुलिस द्वारा चल रहे गुड टच बैड टच कैम्पेन के दौरान चौकाने वाला किस्सा सामने आया। रांदेर पुलिस चौकि के क्षेत्र के सरकारी विद्यालय में किये गए कैम्पेन के बाद कक्षा 5 की विद्यार्थी ने प्रिन्सिपल तथा प्रशिक्षिका को बताया कि मेरे पिता मुझे नग्न वीडियो दिखा कर मेरे साथ गंदा करते हैं। इसके बाद पूर्ण मामला पुलिस में पहुंचा। इस मामले के लिए रांदेर पुलिस ने सगी बेटी के साथ 2 साल से दुष्कर्म करने वाले बेशर्म पिता के खिलाफ गुनाह दर्ज करके उसे पकड़ लिया।

( Photo Credit : thelocal.de )

दुष्कर्म करने वाले सगे पिता के विरुद्ध फरियाद करने वाली यूपी वासी परिवार की बच्ची की हिम्मत को पुलिस ने भी खूब सराहा। पिछले महिने उगत के सरकारी विद्यालय में रांदेर पुलिस के एएसआई ममता बेन सहित अन्य पुलिस कर्मियों द्वारा ‘गुड टच बैड टच’ कैम्पेन के अंतर्गत प्रोग्राम कराया था।

उसके बाद यहां कक्षा 5 में पढ़ाई करने वाली छात्रा ने विद्यालय की प्र‌िन्सिपल तथा प्रशिक्षिका से बताया कि उसके अपने सगे पिता उसके साथ प्रकर्ति के विरुद्ध कृत्य करते हैं। जिसको प्र‌िन्सिपल तथा प्रशिक्षिका ने गंभीरता से लिया तथा वे लोग रांदेर पुलिस के पास ये फरियाद लेकर गए। पीड़ित बच्ची ने अपनी माता की मौजूदगी में कहा कि मेरे पिता द्वारा पिछले 2 वर्ष से रात के समय मोबाइल फोन में नग्न वीडियो दिखा कर शारिरिक संबंध किये जाते हैं।

यह गुड टच बैड टच कैम्पेन की प्रथम फरियाद है। गुड टच बैड टच कैम्पेन सूरत पुलिस द्वारा 6 महिने पहले चलाया गया एक कैम्पेन है ‌जिसमें पुलिस विद्यालयों में जा जा कर विद्यार्थीयों को गुड टच बैड टच के विषय में शिक्षित करते हैं।

( Photo Credit : secureteen.com )

बेखौफ बेशर्म पिता के दुष्कर्म के बारे में पुत्री ने 2 वर्ष पूर्व भी माता को बताया था। परंतु समाज में बदनामी के डर से उस समय उन्होने फरियाद नहीं की। और दुसरी ओर पिता ने भी गलती हो गई कह कर बाकी 2 बच्चों का वास्ता दे कर माफी मांगी। जिसके चलते बात पुलिस तक नहीं पहुंची। परंतु फिर भी पिता द्वारा अपनी हैवानियत नहीं छोड़े जाने पर गुड टच बैड टच कैम्पेन के दौरान आखिर यह मामला पुलिस के सामने आ ही गया।

गुड टच बैड टच कैम्पेन के माध्यम से पुलिस बच्चों में निर्भयता का वातावरण उत्पन्न कर पाने में सफल रही है। पुलिस की सफलता का ही परिणाम है 5वीं कक्षा की विद्यार्थी की यह फरियाद।