पार्किंग पॉलिसी को लेकर सामान्य सभा में शासकों पर विपक्ष की गाज


  • गटर समिति अध्यक्ष को शासकों द्वारा दबाने का आक्षेप लगाकर विपक्ष का सभा से वॉकआऊट
  • पार्षदों ने उठाई जन समस्याएं

सूरत। महानगरपालिका की मासिक सामान्य सभा के दौरान मौसमी बीमारी, गणेश विसर्जन, केबल स्टेईड ब्रिज, प्लास्टिक पर प्रतिबंध, पार्किंग पॉलिसी को लेकर विपक्ष के सदस्यों द्वारा शासकों से किये गये तीखे सवालाां पर चर्चा हंगामेदार रही। गटर समिति अध्यक्ष अमितसिंह राजपूत पर भाजपा पदाधिकारी दबाव बनाने का प्रयास कर रहे हैं, ऐसे आरोपों के बाद विपक्षी सदस्यों ने सभा के एजेन्डा को फाड़कर सभागृह से वॉकआऊट किया।

सामान्य सभा में शून्य काल की चर्चा के दौरान मुकेश दलाल ने कहा कि 2 अक्टूबर को केबल स्टेईड ब्रिज का लोकार्पण होने जा रहा है। यह ब्रिज अठवा-अडाजण को जोड़ने के साथ शहर की यातायात समस्या का निराकरण भी करेगा। ब्रिज शहरवासियों के लिये बहुत उपयोगी साबित होगा।

जयंति भंडेरी ने कहा कि गणेश विसर्जन को लेकर पालिका आयुक्त की प्रशंसनीय कामगीरी रही। वेड रोड पर पार्किंग की जगह से अतिक्रमण हटाना होगा। सीमाडा में पतरे के शेड से दुकानों के सामाने पार्किंग की जगह पर अतक्रिमण किया जाता है।

शैलेष रायका ने कहा कि एपीएमसी मार्केट में पिछले कई दिनों से कचरा नहीं उठाया गया। वहां गंदगी का अंबार लगा होने से पालिका तत्काल उसे सील करे।

सोमनाथ मराठे ने कहा कि पूर्व में गणेश विसर्जन की स्थिति हम सबने देखी है, इस वर्ष पालिका आयुक्त तथा पुलिस आयुक्त के पर्यावरणलक्षी प्रयास से नदी को प्रदुषित होने से बचाने में सफलता मिली।

प्रफुल तोगडिया ने कहा कि गणेश विसर्जन के लिए सबसे अधिक आभार शहर की जनता का मानना होगा, उसके बाद पालिका आयुक्त को धन्यवाद देता हूं। भाजपा शासकों को यह कार्य सालों पहले करना चाहिए था। उनकी आँख 23 सालों के बाद खुली है। केबल स्टेईड ब्रिज का पीएम और सीएम के हाथों उद्घाटन का मोह छोडक़र सर्व धर्म के साधु संतों, मौलवी, फादर को बुलाकर उनकी उपस्थिति में लोकार्पण करना चाहिए।
सुरेश कणसागरा ने कहा कि उधना मेन रोड पर फुटपाथ की जगह पर वाहन पार्क किए जाते हैं। उस अतिक्रमण को दूर कर वहां पर ग्रील लगाकर सायकल ट्रेक के लिए रास्ता खोलना चाहिए।

मुकेश पटेल ने कहा कि मजुरागेट से भटार रोड के फुटपाथ का उपयोग राहगीरों के बदले लारी गल्ले वाले ज्यादा करते हैं। इसका भी निराकरण करना चाहिये।