चैंबर की पालिका से गुहार : शुल्क ले कर मुलाकातियों को नानपुरा-मक्काईपुल मार्ग पर पार्किंग करने दें


सूरत के प्रतिष्ठित व्यावसायिक संगठन द सदर्न गुजरात चैंबर ऑफ कोमर्स का प्रबंधन पिछले लंबे अर्से से एक समस्या से त्रस्त हैं। उनकी समस्या है नानपुरा स्थित चैंबर भवन ‘समृद्धि’ के आसपास वाहनों की पार्किंग की सुविधा न होना।

चैंबर में मुलाकातियों की आवाजाही हमेशा बनी रहती है। ये मुलाकाती चैंबर भवन के बाहर सड़क किनारे अपने वाहन पार्क करते हैं। जब तक वे अपना काम पूरा करके लौटते हैं, ट्राफिक पुलिस मुलाकातियों का चालान काट चुकी होती है और करीबन ६०० रुपये का चूना लगा जाता है। इस समस्या के स्थायी समाधान के लिये चैंबर की ओर से सूरत महानगर पालिका से गुहार लगाई है कि वह नानपुरा-मक्काईपुल मार्ग पर सड़क किनारे वाहन पार्किंग की मंजूरी प्रदान करे। इसके लिये वह बाकायदा शुल्क भी तय कर सकती है।

गौरतलब है कि इस पूरे मार्ग पर कई महत्वपूर्ण कार्यालय स्थित हैं जिसमें राज्य एवं केंद्र सरकार के कार्यालय, विभिन्न बैंक, जीआईडीसी की कचहरी के अलावा पोस्ट ऑफिस और बगीचा भी है।

बता दें कि दो वर्ष पहले चैंबर ने पालिका के समक्ष पार्किंग प्रोजेक्ट का एक प्रस्ताव भी रखा था जिसके तहत मक्काईपुल के पास १०० वर्ग मीटर जगह की मांग की गई थी जिससे वहां दुपहिया और गाड़ियों के लिये पार्किंग की व्यवस्था की जा सके। इसका खर्च वहन करने को भी चैंबर तैयार था। लेकिन उस प्रस्ताव को भी फिलहाल कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला है।