सूरत : राम रोटी सेवा संघ कर रहा जरूरत मंदों की भूख मिटाने का इंतजाम


  • रिंगरोड कपड़ा बाजार इलाके में बांटे फूड पैकेट

सूरत। लोक डाउन से बेशक हम घर में ही रहने की बोरियत महसूस कर रहे होंगे, लेकिन सूरत में एक वर्ग ऐसा भी है जिसके पास घर तो दूर की बात है, खाने को रोटी और पीने को पानी तक नहीं है। खुले आसमान और फ्लाई ओवर ब्रिजों के नीचे अपना आशियाना बनाने वाले हजारों लोग मन्दिर, मस्जिद, गुरुद्वारा तक भटकते हैं। लेकिन वहां ताला लटकता देख उनकी भूख और भी पीड़ा दायक हो जाती है।

कपड़ा बाजार में कई दिहाड़ी मजदूर हैं जिनका जीवन ठहर सा गया है। ऐसे असंख्य लोगों की पीड़ा को शहर के उत्साही और सेवाभावी नोजवानों ने समझा और एक अनूठी सेवा का मार्ग पकड़ा। न कहीं भट्टी पर कड़ाही चढ़ाई और न ही हलवाई और हेल्पर्स की भीड़ लगाई। बावजूद इसके आज 300 फूड पैकेट ग्राउंड जीरो पर उन लोगों तक पहुचाये जो दो दिन से रोटी के इंतजार में थे।

हुवा यूं कि पत्रकार महेश शर्मा की प्रेरणा से वेसु की कुछ सोसायटी के लोगों से श्री बजरंग अग्रवाल ने चर्चा की और घरों में बन रहे खाने में से ही कम से कम दो लोगों का एक्स्ट्रा भोजन बना पैकेट तैयार करने का निवेदन किया। सभी ने खुले दिल से इसमे सहयोग का आश्वासन दिया और देखते ही देखते 300 फूड पैकेट श्याम रचना के प्रांगण में एकत्रित हो गए। इसके बाद अपना वाहन लेकर पहुंचे जय शर्मा, प्रदीप पारीक, राहुल शर्मा और श्रवण जोशी जिन्होंने फूड पैकेट भिक्षुक और गरीब लोगों तक पहुंंचाये। यह सेवा जब तक लोक डाउन रहेगा तब तक अनवरत जारी रहेगी।

उल्लेखनीय है कि लोक डाउन के बाद सूरत की सड़कों पर सन्नाटा है और धर्मिक स्थलों पर ताला है। ऐसे में रोज कमा कर और रोज मांग कर अपना पेट भरने वाले हजारों लोगों के समक्ष रोटी का बहुत बड़ा संकट खड़ा हो गया है। ये वो लोग हैं जो रजिस्टर्ड नहीं है जिन तक सरकार का राहत पैकेज भी नहीं पहुच पाता है। ऐसे में सेवा भावी लोग और उत्साहित नोजवानों ने मिल कर यह अनूठी सेवा शुरु की है जिसमें बिना हलवाई और सामान के तामझाम के अब रोज फूड पैकेट बंटेंगे। इनका टारगेट रोजाना कम से कम एक हजार लोगों तक भोजन पहुंचाना है। यदि आप भी मानवीय सेवा इस महायज्ञ में आहुति देना चाहें तो वाट्सअप नम्बर 9429333033 पर सन्देश भेज कर जानकारी ले सकते हैं।