शनिवार को आदिवासी फुड-फेस्टिव का मज़ा लीजियेगा, लज्जतदार आदिवासी व्यंजन खाने को मिलेंगे


(लोकतेज फोटो - प्रतिकात्मक तस्वीर)

सूरत। स्थानीय अठवालाईंस स्थित एसएमएसी पार्टी प्लोट में शनिवार २३ फरवरी २०१९ को आदिवासी संस्कृति मेगा महोत्सव एवं उत्थान प्रोजेक्ट का आयोजन किया गया है। सायं ४ बजे से शुरु होने वाले इस मेले में सूरतियों को आदिवासी समाज के विभिन्न व्यंजनों का स्वाद चखने का अवसर मिलेगा। यह आयोजन समस्त आदिवासी समाज गुजरात राज्य द्वारा विश्व आदिवासी भाषा वर्ष के निमित्त किया गया है।

आदिवासी समाज की कला, भाषा, अस्मिता संस्कृति की पंरंपराओं के जतन के लिये मेगा फुड फेस्टिवल-२०१९ भी होगा। इस संदर्भ में आदिवासी समाज सूरत शहर के अध्यक्ष जी आर कोकणी ने बताया कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आदिवासी समाज के जरूरतमंद तेजस्वी विद्यार्थियों को प्रोत्साहन एवं मदद करना है। महोत्सव में डांगी नृत्य, ठाकरे नृत्य, काहण्या/तारपा नृत्य, तूर नृत्य, एक पात्रीय अभिनय, गामित/वसावा समाज के ढोल, भिलोडी नृत्य, बिरसामुंडा नाटक, घेरिया नृत्य, लग्नगीत, डोवंडु नृत्य साहित आदिवासी व्यंजनों के लगभग २५ स्टॉल उपलब्ध होंगे। इन स्टॉल्स पर नागली के रोटले, चावल के रोटले, काली चाय, पनेला, भडकुं, पनुं, ढीकला, ऊंडा, वाल, ऊंबाडियुं आदि व्यंजन का स्वाद चखने का अवसर मिलेगा। समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में वाइस चेरमेन नेशनल कमिशन और भारत सरकार ने शिड्युल ट्रायबल की कु. अनुसुया उइके उपस्थित रहेंगी।