हार्दिक को अहमदाबाद से सूरत लाएगी पुलिस


चार पाटीदारों के खिलाफ सेशंस कोर्ट मेंं केस कमिट
अहमदाबाद। राजद्रोह मामले मेंं हार्दिक पटेल, दिनेश बांभणिया, चिराग पटेल और केतन पटेल के खिलाफ सेशंस कोर्ट मेंं केस कमिट हुआ है। इस मामले की अगली सुनवाई 22 फरवरी को होगी। हार्दिक को अहमदाबाद के मेट्रोपोलिटिन कोर्ट मेंं पेश करने के बाद वापस सूरत की लाजपोर जेल में लाया जाएगा।
ज्ञातव्य है कि सोमवार को सुबह 11 बजे अहमदाबाद की मेट्रो कोर्ट मेंं हार्दिक सहित चार पाटीदारोंं को पेश किया गया। इस दौरान पाटीदार समाज के लोगों ने ‘जय सरदार-जय पाटीदारÓ, ‘पाटीदारोंं को जेल से रिहा करो,Ó ‘हार्दिक पटेल तुम आगे बढ़ो हम तुम्हारे साथ हैंÓ के नारे केसाथ कोर्ट के बाहर प्रदर्शन किया। हार्दिक के समर्थन मेंं सौराष्टï्र और उत्त्तर गुजरात के पाटीदार भारी संख्या में अहमदाबाद पहुंच गए थे।
चार्जशीट की नकल दी गयी
जीएमडीसी ग्राउंड पर सभा एवं रैली के बाद हिंसा भड़क उठी थी। इस मामले में हार्दिक पटेल, दिनेश बांभणिया, केतन पटेल और चिराग पटेल के खिलाफ राजद्रोह की शिकायत दर्ज करायी गयी है। चारों आरोपियोंं के खिलाफ 90 दिनोंं की जांच के बाद क्राइम ब्रांच ने फौजदारी कोर्ट मेंं 16 जनवरी को 2700 पन्ने की चार्जशीट दायर की थी। चार्जशीट की नकल लेने के लिए कोर्ट ने तारीख दी थी। जिस तारीख पर हार्दिक गैरहाजिर रहे। फौजदारी कोर्ट ने लाजपोर जेल के अधिकारियोंं को नोटिस देकर 8 फरवरी को हार्दिक को कोर्ट मेंं पेश करने का निर्देश दिया था। कोर्ट के आदेशानुसार लाजपोर जेल के अधिकारी रविवार को हार्दिक को लाजपोर से साबरमती जेल में ले गए। सोमवार को हार्दिक को मेट्रो कोर्ट मेंं पेश किया गया। इस दौरान आरोपियोंं को चार्जशीट की नकल दी गयी।