विजय रूपाणी प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नियुक्त


बजट के बाद छोड़ेंगे मंत्री पद
बधाई देने गाध्ंाीनगर उमड़े कार्यकर्ता : मुख्यमंत्री, प्रदेश प्रभारी ने दिया अभिनंदन
अहमदाबाद। मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल और भाजपा के राष्टï्रीय अध्यक्ष अमित शाह की लंबी खींचतान के बाद विजय रूपाली को गुजरात भाजपा का अध्यक्ष चुना गया। शुक्रवार को दोपहर 12.39 बजे विजय मुहूर्त मेंं रूपाणी के नाम की आधिकारिक घोषणा की गयी। बजट के बाद विजय रूपाणी मंत्री पद छोड़ देंगे। ज्ञातव्य है कि 22 फरवरी से गुजरात का बजट सत्र शुरु होगा।
संघ के अग्रणियों से मिले रूपाणी
कोबा स्थित कमलम्ï में शुक्रवार को भाजपा प्रमुख के नियुक्ति की आपैचारिकता पूरी की गयी। इस दौरान प्रदेश प्रभारी डॉ. दिनेश शर्मा, केन्द्रीय निरीक्षक अर्जुन मेघवाल, मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल, प्रदेश चुनाव अधिकारी के सी पटेल सहित अनेक पदाधिकारी और नेता उपस्थित रहे। चुनाव से पहले विजय रूपाणी ने मणिनगर स्थित संघ भवन में अग्रणियोंं से मुलाकात की। सुबह 11.00 बजे विजय रूपाणी ने भाजपा प्रमुख पद के लिए अपना नामांकन पत्र भरा। प्रमुख पद के लिए अन्य किसी के दावेदारी न करने से विजय रूपाणी को प्रमुख नियुक्त किया गया। विजय रूपाली की नियुक्ति से राज्य की राजनीति मेंं नए अध्याय की शुरुआत हुई।
2017 में हम फिर चुनाव जीतेंगे : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने कहा कि विजयभाई आपके नाम से ही ‘विजयÓ है। आप जहां गए वहां विजय ही मिली है। हमें विश्वास है कि 2017 और छोटे-बड़े सभी चुनाव मेंं भाजपा की ही विजय होगी।
रंगून से राजकोट तक का सफर
विजय रूपाणी का जन्म 2 अगस्त 1956 को रंगून (वर्मा) में हुआ था। 1960 मेंं उनका परिवार राजकोट मेंं आ गया। विजयभाई विद्यार्थी काल से ही राजनीति में जुड़ गए थे। विजय रूपाणी ने बीए, एलएलबी तक शिक्षा ग्रहण की है।
1988 से 1995 तक विजय रूपाणी राजकोट महानगरपालिका मेंं स्थायी समिति के अध्यक्ष रह चुके हैं। गुजरात भाजपा में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी संभालते हुए 3 बार महामंत्री भी रह चुके हैं। 2006 में गुजरात राज्य प्रयर्टन निगम, 2006 से 2012 राज्य सभा सांसद, 2013 में अल्पकालीन म्युनिसिपल फायनांस बोर्ड के चेयरमैन तथा सौराष्टï्र स्टोक एक्सचेंज के डायरेक्टर भी रह चुके हैं। राजकोट से विधानसभा चुनाव जीतने के बाद विजय रूपाणी को कैबिनेट मंत्री का पद मिला। हाल मेंं उनके पास जलापूर्ति, श्रम एवं रोजगार तथा वाहन व्यवहार विभाग है।
पुत्री और दामाद सीए
विजय रूपाणी को दो संतानें एक पुत्र और एक पुत्री हैं। एक पुत्र का साढे तीन साल की उम्र मेंं अवसान हो गया था। पुत्री राधिका की शादी लंदन मेंं हुई है। पुत्री और दामाद दोनोंं लंदन मेंं चार्टर्ड एकाउंटेंट हैं। जबकि पुत्र ऋषभ निरमा युनिवर्सिटी मेंं पढाई कर रहा है। विजय रूपाणी के पहले पुत्र पूजित की ससुराल में तीसरी मंजिल से नीचे गिरने से मौत हो गयी थी। पुत्र की मृत्यु के बाद विजयभाई ने राजकोट मेंं पूजित ट्रस्ट की स्थापना की। जिसमेंं गरीब बच्चों, कचरा बिनने वाली लड़कियोंं को पढ़ाने और कम्प्यूटर की शिक्षा दी जाती है।
जेलयात्रा भी की
सन 1975 मेंं आपातकाल के दौरान विजय रूपाणी ने जेलयात्रा भी की। राजकोट के पूर्व मेयर जनक कोटके ने पुरानी यादोंं को ताजा करते हुए कहा कि उन दिनों विजयभाई युवा नेता थे। हमारे साथ ही जेल गए थे। डरे बिना हिंमत से आपातकाल की लड़ाई लड़े।