वाइब्रेंट में सूरत को वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन का नजराना


 

 रेलवे मंत्री ने की घोषणा 
सूरत। वाइब्रंट शिखर सम्मेलन में गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन रिडेलपमेंट प्रोजेक्ट के अवसर पर रेलवे मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि जनवरी महीने में 23 रेलवे स्टेशनों का पुनर्निर्माण किया जाएगा। रेलवे मंत्री ने कहा कि 645 करोड़ की लागत से सूरत रेलवे स्टेशन को ट्रान्सपोर्टेशन हब बनाया जाएगा। सूरत रेलवे स्टेशन पर 60 मंजिला चार टावर बनाकर कोमर्शियल सेक्टर बनेगा। जिसमें रोजगार के विपुल अवसर होंगे। रेलवे मंत्री ने वडोदरा में रेलवे युनिवर्सिटी स्थापित करने की भी घोषणा की।
वाइब्रंट में स्मार्ट सिटी के साथ स्मार्ट स्टेशन बनाने की योजना के लिए अर्बन डेवलपमेंट विभाग के साथ रेल मंत्रालय ने एमओयू किया है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कैपिटल रेलवे स्टेशन के रि-डेवलपमेंट और रेलवे युनिवर्सिटी के लिए आभार जताया।

सूरत रेलवे स्टेशन वल्र्ड क्लास बनेगा
सूरत रेलवे स्टेशन को नजराना बनाने की महानगरपालिका की मेहनत धीरे-धीरे रंग ला रही है।
रेलवे मंत्रालय के समक्ष प्रस्तुत प्रेजेन्टेशन पीएमओ को काफी पसंद आया है।
सूरत रेलवे स्टेशन को वल्र्ड क्लास बनाने के लिए एमओयू किया गया है।

60 मंजिला चार आईकोनिक टावर बनेंगे
प्रेजेन्टेशन में सहारा दरवाजा से वराछा गरनाला तक रेलवे को अत्याधुनिक ढंग से विकसित किया जाएगा।
रेलवे, राज्य सरकार और पालिका की कुल 2.27 लाख चौरस मीटर जमीन पर प्रोजेक्ट साकार होगा।
एक करोड़ स्क्वेयर फुट में निर्माण होगा, जिसमें चार आइकोनिक टावर खड़े किए जाएंगे।
जिसमें मॉल, होटल, रेस्टोरेंट, ऑफिस, कॉफी शोप, स्पा सहित सेवन स्टार की लक्जरियस सुविधाएं होंगी।

2055 को ध्यान में रखकर विकास
सूरत रेलवे स्टेशन पर 4 प्लेटफार्म को बढ़ाकर 6 प्लेटफार्म किया जाएगा।
सभी प्लेटफार्म होरीजोन्टल मुवींग और एस्केलटर से एक दूसरे से कनेक्ट होंगे।
प्लेटफार्म की लंबाई 300 से बढ़ाकर 600 मीटर की जाएगी
2055 की आबादी को ध्यान में रखकर विकास किया जाएगा।
हाल में 2 लाख से अधिक यात्री सूरत रेलवे स्टेशन से गुजर रहे हैं।

बस की कनेक्टिविटी
स्टेशन के बाहर ही यात्री ट्रेन की बोगी का नंबर जान सकें गे।
रेलवे स्टेशन से बाहर निकले बिना ही यात्रियों को बस की सुविधा उपलब्ध होगी। रेलवे के अंडरग्राउंड में बस डेपो बनेगा।
रेलवे के अंडरग्राउंड में 140 बसों के एक साथ रवाना और 100 बसों के खड़ी होने की पूरी व्यवस्था होगी।
सहारा दरवाजा से वराछा गरनाला तक अंडर ग्राउंड बस डेपो बनेगा।
स्टेट कैरेज, सिटी बस, बीआरटीएस पर दौडऩे वाली बसें यात्रियों को उपलब्ध होंगी।
400 कार और 1000 मोटर साइकल की पार्किंग की व्यवस्था होगी।
रेलवे स्टेशन पर सोलर पैनल द्वारा बिजली का उत्पादन और फुट ओवर ब्रिज बनेगा।

अहमदाबाद मेट्रो रेल प्रोजेक्ट 2018 तक पूरा होगा
वाइब्रंट में शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि अहमदाबाद मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का पहला चरण मार्च 2018 तक पूरा जो जाएगा। केन्द्र से अब तक 800 करोड़ रूपए मिल चुके हैं। पहले चरण में 36 किमी. का काम पूरा होगा।
स्मार्ट सिटी के अंतर्गत वडोदरा में स्पेशल पर्पज व्हीकल बनाने की कवायत चल रही है।