मोदी सरकार 3200 करोड़ रिफाइनरियोंं में निवेश करेगी


भारत मेंं जल्द यूरो-6 मानक पेट्रोल-डीजल का उत्पादन होगा, जिससे प्रदूषण कम होगा : प्रकाश जावडेकर
सूरत। केन्द्रीय वन पर्यावरण, जलवायु मंत्री प्रकाश जावडेकर ने सूरत में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर केन्द्रीय मंत्री को महीने में दो लोकसभा क्षेत्र का दौरान सरकार की उपलब्धि जनता तक पहुंचाने का सुझाव दिया है। जिसके अंतर्गत मैं आज भरूच लोकसभा की मुलाकात करने आया हूं। इससे पूर्व मैं एलआईसी युनियन का राष्टï्रीय अध्यक्ष होने के नाते सूरत मेंं उद्ïघाटन समारोह में उपस्थित रहा। जावडेकर ने कहा कि नरेन्द्र मोदी के 19 महीने के शासन के दौरान कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए। व्यवस्था परिवर्तन के महत्वपूर्ण कामों द्वारा भ्रष्टïाचार को कम करने मेंं सफलता मिली है। कांग्रेस के शासनकाल में कोयला, लोहा और रेती की खानोंं की नीलामी में करोड़ों का भ्रष्टïाचार होता था। मोदी सरकार ने इस व्यवस्था प्रणाली मेंं परिवर्तन लाकर कोयले की आन लाइन नीलामी शुरु कर दी है। लोहे की खदानों की नीलामी भी आन लाइन होगी। रेती की खदानों के लिए नया नियम बनाया गया है। सेटेलाइट के माध्यम से कहां से कितनी रेती निकालनी है उस हिसाब से ठेका दिया जाएगा। रेती निकालते समय ट्रकोंं पर जीपीएस सिस्टम बारकोडिंग रसीद के माध्यम से पारदर्शिता लायी जाएगी। मोदी सरकार का दूसरा सबसे महत्वपूर्ण काम एलपीजी के बाद केरोसीन की सब्सिडी भी खाते मेंं जमा होगी। 19 करोड़ लोगोंं ने बैंकों में खाते खुलवाए हैं। इंदिराजी के शासन मेंं बैंकों का राष्टï्रीयकरण हुआ मगर मोदी शासन में लोग बैंकों से जुड़े। मोदी सरकार स्थायी उपाय की दिशा मेंं प्रयासरत है। कांग्रेस ने शोर्टटर्म के ही प्रयास किए। डीजल-पेट्रोल की क्वालिटी सुधारने के लिए मोदी सरकार 32000 करोड़ का निवेश कर पेट्रोलियम रिफाइनरियोंं को आधुनिक बनाएगी जिससे रिफाइनरी से अच्छी क्वालिटी का ईधन तैयार होगा। भारत मेंं हाल यूरो चार मानक पेट्रोल डीजल है। मोदी सरकार आगे की सोचने की यूरो 5 के बदले यूरो 6 पर काम करना शुरू कर दिया है। 2020 तक सभी पेट्रोलियम रिफाइनरी आधुनिक हो जाएंगी। 2024 मेंं भारत मेंं यूरो-6 पेट्रोल-डीजल वाहन चलेगा। मोदी सरकार जल्द ही कोस्टल जोन में परिवर्तन करके नई पोलिसी देश के समक्ष पेश करेगी।