नशीला पदार्थ पिलाकर महिला पर सामूहिक बलात्कार


पड़ोसी महिला को पार्टी करने के लिए घर पर बुलाकर नशीला पदार्थ पिलाने के बाद पति और उसके दो दोस्तोंं को अपनी हवस बुझाने के लिए सौंप दिया
सूरत। पडोस मेंं रहने वाली महिला को नशीला पदार्थ पिलाने के बाद उस पर सामूहिक बलात्कार किए जाने का मामला प्रकाश मेंं आया है। लिंबायत पुलिस द्वारा इस बारें में शिकायत दर्ज न करने पर पीडि़त महिला ने पुलिस आयुक्त से गुहार लगायी है।
सूत्रा से मिली जानकारी के अनुसार लिंबायत, कैलाश मानसरोवर सोसायटी मेंं रहने वाली अंशुबेन बबलू चौबे नामक महिला वेश्यावृत्ति का धंधा करती है। अंशु चौबे के मकान के सामने एक महिला अपने परिवार केसाथ ही रहती है। महिला का अंशु चौबे के साथ अच्छा संबंध है। संबंध का लाभ उठाते हुए अंशु चौबे ने पार्टी करने के बहाने पड़ोसी महिला को अपने घर पर बुलाया और शीतल पेय मेंं नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया। पड़ोसी महिला शीतल पेय पीते ही बेहोश हो गयी। महिला केबेहोश होने केबाद अंशू चौबे का पति बबलू ने उस पर बलात्कार किया। होश मेंं आने के बाद महिला ने खुद पर हुए बलात्कार के बारे मेंं पूछा तो अंशू ने कहा कि इस बात को यहींं दबा तो नहींं तो तुम्हारे पति से कहकर तुम्हें बदनाम कर दूंगी। अंशू की धमकी से महिला डर गयी। पडोसी महिला की चुप्पी का फायदा उठाते हुए अंशू चौबे ने दुबारा उसे अपने घर पर बुलाया और शीतल पेय पदार्थ मेंं नशीला पदार्थ पिलाने के बाद बाहर से बुलाए गए राजू और सर्वेश उपाध्याय नामक युवक को सौंप दिया। बलात्कार की घटना के बाद पडोसी महिला ने अंशू चौबे से अपने संबंधोंं को तोड़ दिया। डरी-सहमी महिला ने अपने पति से सारी हकीकत कह सुनाई। अंशू चौबे की करतूत जानने के बाद पडोसी महिला के पैरोंं तले से जमीन खिसक गयी। इस बारे मेंं महिला अपने पति के साथ लिंबायत पुलिस थाने मेंं शिकायत दर्ज कराने गयी परंतु लिंबायत पुलिस ने दोनोंं को डांट कर भगा दिया। न्याय पाने के लिए बलात्कार की शिकार महिला ने पुलिस आयुक्त को आवेदन देकर न्याय पाने की गुहार लगायी है। पुलिस आयुक्त के आदेश के बाद लिंबायत पुलिस बलात्कार की शिकायत दर्ज कर आरोपियोंं को गिरफ्तार करने कोशिश शुरु कर दी हैै।