गुजरात के सिनेमाघरों में सप्ताह में गुजराती फिल्म के दो शो अनिवार्य


अहमदाबाद। गुजरात सरकार ने राज्य के थिएटरों में १ अप्रैल से गुजराती फिल्मों के दो शो दिखाना अनिवार्य कर दिया है।
गुजराती फिल्मों के प्रति लोगों को आकर्षित करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने नई कवायद शुरू की है। इसके अंतर्गत गुजरात सरकार ने राज्य के सभी थिएटरों में सप्ताह में दो शो गुजराती फिल्मों के दिखाना अनिवार्य कर दिया है। एक अप्रैल २०१५ से राज्य के सभी मल्टीप्लेक्स और सिंगल स्क्रीन थिएटरों को सप्ताह में दो शो गुजराती फिल्म अनिवार्य रूप से प्रदर्शित करने होंगे। गुजरात के सूचना एवं प्रसारण विभाग ने इसके लिए अधिकृत रूप से परिपत्र जारी कर दिया है। हालांकि राज्य सरकार से इस परिपत्र से गुजराती फिल्मों के प्रोड्युशर और डायरेक्टर खुश नहीं हैं। उनका कहना है कि सप्ताह में गुजराती फिल्मों के केवल दो शो दिखाने से पूरी फिल्म इण्डस्ट्रीज बचाने की सोच उचित नहीं है। वहीं अभिनेता अरिंवद त्रिवेदी ने गुजरात सरकार के इस पैâसले बेहतर बताने के साथ ही यह भी कहा कि सप्ताह में केवल दो शो की अनिवार्यता बहुत कम है। प्रति दिन गुजराती फिल्म का यदि एक शो दिखाने का नियम लागू किया जाता है तो गुजराती फिल्म इण्डस्ट्रीज को काफी लाभ होगा। दूसरी राज्य सरकार के सूचना एवं प्रसारण विभाग ने इस संदर्भ में अधिकृत जवाब देने से इंकार कर दिया है। साथ ही अनाधिकृत रूप से कहा है कि सप्ताह में दो शो दिखाने का नियम लागू होने के बाद गुजरात सरकार तीन महीने पर नया नियम बनाकर शो की संख्या बढ़ाने पर विचार कर रही है।
सतीश शुक्ल/३० मार्च