गरीबों का पेट भरेगी `मां अन्नपूर्णा योजना’


अहमदाबाद । अब “मां अन्नपूर्ण योजना” गुजरात के गरीबों का पेट भरेगी। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के आqस्तत्व में आने के तीन वर्ष बाद गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल ने इसी अधिनियम के तहत “मां अन्नपूर्ण योजना” शुरू की है। उच्चतम न्यायालय की व्यवस्था के बाद राज्य में खाद्य सुरक्षा कानून को लागू किया गया।
मुख्यमंत्री आनंदी बेन ने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता में थी तो, १९९५ से पहले सिर्पâ १.८८ करोड़ लोगों को सबसिडी दरों पर खाद्यान्न मिलते थे। लेकिन अब, मां अन्नपूर्णा योजना के तहत गुजरात के ३.८२ करोड़ लोगों को लाभ पहुंचेगा। सभी को तीन रुपए प्रति किलोग्राम चावल और दो रुपए प्रति किलोग्राम गेंहू मिलेगा।