आनंदीबेन के मंत्री ने कहा- ‘…..थोड़ी-थोड़ी पिया करो’


वडोदरा। गुजरात राज्य के आदिवासी विकास मंत्री कांतिभाई गामित ने लोगों को शराब छोडऩे की बजाय थोड़ी-थोड़ी पीने की सलाह दे रहे हैं। आदिवासी बहुल क्षेत्रों में शराब बंद करने की बजाय कम पीने और शादी-विवाह, त्यौहार आदि पर शराब पीने की सलाह देने वाले कांति गामित के बयान पर भारी बवाल मच गया है। कांतिभाई गामित ने शााल प्रवेशोत्सव के दौरान यह बयान दिया है। आदिवासी विकास मंत्री ही यदि आदिवासियों को शराब पीने की सलाह देंगे तो आदिवासियों का विकास कैसे होगाï?
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार छोटा उदयपुर में शाला प्रवेशोत्सव के दौरान राज्य के आदिवासी विकास मंत्री कांतिभाई गामित विशेष रूप से उपस्थित रहे। मंत्री कांतिभाई गामित छोटा उदयपुर जिले के आंत्रोली और घोघादेव गांव में शाला प्रवेशोत्सव कराया। अंत्रोली गांव में आदिवासी मंत्री कांतिभाई गामित ने अपने संबोधन में कहा कि -‘मैं यह नहीं कह रहा हूं कि शराब पीना बंद कर दो, शराब पिओ लेकिन लिमिट में। क्योंकि आदिवासियों के पास पीने की कोई लिमिट नहीं है। पीने बैठ गए तो पूरा दिन भी निकल जाता है। कभी कभार शादी-विवाह, त्यौहार पर जी खोलकर पी लिया बस बहुत हो गया। सुबह से शाम तक शराब पीते हो तो उसे लिमिट में कर लो।Ó
मंत्री के इस प्रकार के बयान से वहां मौजूद अधिकारी और स्थानीय लोग भी विचार में पड़ गए।