भारत ने वेस्टइंडीज को दस विकेट से हराकर 2-0 से सीरीज जीती


(Photo: IANS)
  • मैन ऑफ द मैच उमेश यादव
  • मैन ऑफ द सीरीज पृथ्वी शॉ

हैदराबाद (ईएमएस)। भारत ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच में मेहमान टीम वेस्टइंडीज को दस विकेट से हराकर दो टेस्ट मैचों की सीरीज 2-0 से जीत ली है। भारतीय टीम ने तीसरे दिन ही दिन इंडीज को करारी शिकस्त दी।

बल्लेबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भारतीय गेंदबाजों की घातक गेंदबाजी के सामने मेहमान टीम टिक नहीं पाई और भारत ने आसानी से मुकाबला अपने नाम कर लिया। भारत की ओर से तेज गेंदबाज उमेश यादव ने शानदार गेंदबाजी करते हुए कुल मैच में कुल 10 विकेट लिए। वेस्टइंडीज की दूसरी पारी तीसरे दिन रविवार को उमेश और रवींद्र जडेजा ने 127 रनों पर ही समेट दी। पहली पारी के आधार पर मिली बढ़त के कारण भारत को जीत के लिए दूसरी पारी में केवल 72 रनों का लक्ष्य मिला जिसे सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ 33 और लोकेश राहुल 33 ने आसानी से हासिल कर लिया।

वेस्टइंडीज ने पहली पारी में उसने 311 रन बनाये थे जबकि भारत ने पहली पारी में 367 रन। इस प्रकार पहली पारी के आधार पर भारत को 56 रन की बढ़त मिली हुई थी।
उमेश ने लिए दस विकेट

भारत की ओर से दोनों पारियों में शानदार गेंदबाजी करने वाले खिलाड़ी उमेश यादव रहे। उन्होंने पहली पारी में 26.4 ओवर में 88 रन देकर 6 विकेट लिए और दूसरी पारी में 12.1 ओवर में 45 रन देकर 4 विकेट लिए। इस प्रकार कुल 133 रन देकर 10 विकेट लिए। यह उमेश यादव के करियर का अब तक का सबसे बेहतर प्रदर्शन है।

इससे पहले आज सुबह वेस्टइंडीज की दूसरी पारी शुरुआत बेहद खराब रही और उसने शुरुआत में ही सलामी बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिया। इसके बाद मेहमान टीम की ओर से कोई भी बल्लेबाज टिककर रन नहीं बना सका। उसके 6 बल्लेबाजी दो अंकों तक भी नहीं पहुंच पाये। शेनन गैब्रिएल वेस्टइंडीज की ओर से आउट होने वाला अंतिम बल्लेबाज रहे। भारत की तरफ से सबसे गेंदबाज उमेश साबित हुआ। उन्होंने दूसरी पारी में चार विकेट समेत पूरे मैच में 10 विकेट लिए। वहीं, रवींद्र जडेजा ने दूसरी पारी में 3 विकेट, रविचंद्रन अश्विन ने 2 और कुलदीप यादव ने 1 विकेट लिया।

शून्य पर ही आउट हुए सलामी बल्लेबाज

मेहमान इंडीज टीम पर भारतीय गेंदबाज इस कदर हावी थे कि टीम ने महज 70 के स्कोर पर 6 विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद, सुनील एम्ब्रिस (38) ने एक छोर संभाले रखा और टीम को 31.5 में जाकर 100 रन के पार पहुंचाया। वेस्टइंडीज ने 191 गेंदों मं 100 रन बनाए।मेहमान टीम टी ब्रेक तक लड़खड़ा गई और उसने 6 विकेट गंवा दिए। वेस्टइंडीज को पहला झटका पहले ही ओवर में लगा और उसके दोनो सलामी बल्लेबाज शून्य पर ही आउट हो गये। इसके बाद नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे।

पहली पारी में शतक लगाने वाले रोस्टन चेज 6 जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज शॉन डॉवरिच खाता खोले बिना ही अपना विकेट गंवा बैठे। पहली पारी में भी इन दोनों के विकेट उमेश ने ही लिए थे। वहीं शॉनदार लय में नजर आ रहे शाई होप दूसरी पारी में भी टीम के लिए बड़ा योगदान नहीं कर सके। जडेजा ने एक शानदार गेंद पर उन्हें स्लिप में खड़े रहाणे के हाथों लपकवा दिया। होप ने 28 रन बनाए। कैरेबियाई टीम की दूसरी पारी में तीसरा झटका शिमरोन हेटमायर के रूप में लगा। कुलदीप यादव ने उन्हें 17 रन बनाने के बाद चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच करा दिया। सीरीज में तीन पारियों में तीसरी बार हेटमायर कुलदीप का शिकार बने।

भारत ने अपनी पहली पारी में ऋषभ पंत के 92 और आजिंक्य रहाणें के 80 रनों की सहायता से 367 रन बनाये थे। रहाणे और ऋषभ दोनो ही शतक के करीब पहुंचकर उसे बना नहीं पाये। इनके विकेट होल्डर ने लिए।