सेमीफाइनल में जीत का सिलसिल बरकरार रखने उतरेगी न्यूजीलैंड


नई दिल्ली। आईसीसी टी-२० विश्व कप में आज न्यूजीलैंड का मुकाबला पहले सेमीफाइनल में इंग्लैंड से होगा। इस मुकाबले में कीवी टीम जीत की प्रबल दावेदार है। विश्व कप शुरू होने के बाद से ही उसने सभी मुकाबले आसानी से जीते हैं। उसके गेंदबाज काफी अच्छे फार्म में हैं। बल्लेबाजी में भी उसके पास विलियम्सन सहित कई मैच विजेता खिलाड़ी हैं। अब न्यूजीलैंड टीम इस मैच में शानदार जीत के साथ ही पहली बार फाइनल में पहुुंचने के इरादे से उतरेगी।
कीवी टीम की गेंदबाजी अभी तक काफी प्रभावशाली रही है। बाएं हाथ के ाqस्पन गेंदबाज मिचेल सैंटनर और लेग ाqस्पनर इंदरबीर िंसह (ईश) सोढी ने अभी तक अपनी स्पिन से सभी बल्लेबाजों को परेशान किया है। दोनों ने ही भारतीय परिस्थतियों का भरपूर फायदा उठाया है। दोनों ने नौ और आठ विकेट अपने नाम किए हैं।
मिशेल मैक्लेघन और ग्रांट इलियट ने भी अपनी गेंदबाजी से टीम में अहम योगदान दिया है।
टीम ने अभी तक अपने दो शानदार गेंदबाजों टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट का इस्तेमाल ही नहीं किया है। फिरोजशाह कोटला की पिच पर तेज गेंदबाजों को मदद मिलने की संभावना है। ऐसे में अगर विलियम्सन इन दोनों तेज गेंदबाजों को सेमीफाइनल में मौका देते हैं, तो कीवी टीम और खतरनाक साबित हो सकती है।
वहीं दूसरी तरफ इंग्लैंड को वेस्टइंडीज से अपने पहले मैच में क्रिस गेल के कारण हार झेलनी पड़ी थी लेकिन, इसके बाद टीम ने शानदार वापसी की और लगातार तीन जीत दर्ज की जिसमें दक्षिण अप्रâीका के खिलाफ २३० रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए मिली जीत भी शामिल है।
टीम के पास बेन स्टोक्स, मोईन अली, कप्तान इयोन मोर्गन जैसे बांए हाथ के तीन शानदार बल्लेबाज हैं। वहीं जोए रूट, एलेक्स हेल्स और जोस बटलर भी काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उसका कमजोर पक्ष गेंदबाजी है अभी तक उसका कोई भी गेंदबाज प्रभावशानी प्रदर्शन नहीं कर पाया है। क्रिस जॉर्डन, डेविड विले की बल्लेबाजों ने जमकर पिटाई की है हालांकि
इंग्लैंड की टीम कोटला पर पहले ही दो मैच यहां खेल चुकी है जिसका फायदा उसे मिलेगा।