सेक्स संबंधों में ऑलराउंडर ब्रावो का भी नाम


दक्षिण अप्रâीका । वेस्टइंडीज के क्रिकेटर टीनो बेस्ट के चौंकाने वाले खुलासे सामने आए हैं। तेज गेंदबाज रहे बेस्ट ने अपनी ऑटोबायोग्राफी में अपनी गर्लप्रेंâड्स और उनके साथ बिताए गए पलों के बारे में लिखा है। चौंकाने वाली बात यह कि उन्होंने किताब में लिखा है कि वह ५०० से अधिक लड़कियों के साथ रात गुजार चुके हैं।
जानकारी के अनुसार इस काम में उनके साथी खिलाड़ी भी सहयोग देते थे, जिनमें ड्वेन ब्रावो भी शामिल हैं। उनकी यह किताब इस महीने के आखिरी तक मार्वेâट में आने वाली है। नीचे पढ़िए उन्होंने खुद और साथी खिलाड़ियों के महिलाओं से सेक्स संबंध को लेकर क्या कहा। ३५ साल के बेस्ट की ऑटोबायोग्राफी का नाम ‘माइंड द िंवडो-माई स्टोरी’ है। गौरतलब है कि उनका कई क्रिकेटरों के साथ भी विवाद भी रहा है, जिनमें िंफ्लटॉफ, शाहिद अफरीदी, केरॉन पोलॉर्ड जैसे नाम शामिल हैं। इंटरनेशनल क्रिकेट में १०० के आसपास विकेट लेने वाले बेस्ट ने अपना आखिरी मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ जनवरी, २०१४ में खेला था, जो टी-२० मुकाबला था।
बेस्ट ने लड़कियों के साथ बिताए पलों के बारे में कहा है कि वह लगभग ५०० से ६५० लड़कियों के साथ रात बिता चुके हैं। उन्होंने एक चैप्टर में यह भी खुलासा किया है कि वह और उनके साथी क्रिकेटर अलग-अलग देशों के दौरे के समय लड़िकयों के एंजॉय करते थे।’ टीनो ने लिखा है, ”मैं जहां भी दौरे पर क्रिकेटर के रूप में जाता था, वहां लड़कियों से बात करता था, उनके साथ डेट करता था और उनके साथ सोता भी था। मेरा अनुमान है कि मैं सैकड़ों महिलाओं के साथ रात बिता चुका हूं।’ उन्होंने यह भी लिखा है, ‘मैं गल्र्स से को प्यार करता हूं और गल्र्स मुझे प्यार करती हैं…मुझे लगता है कि मैं गंजे सिर वाला दुनिया का सबसे सुंदर दिखने वाला काला इंसान हूं। लोग मुझे मजाक में ब्लैक ब्रैड पिट भी कहते थे।’ उन्होंने साथी खिलाड़ियों में से गेल को अच्छा इंसान बताया, वहीं ब्रावो को मस्ती में साथ देने वाला क्रिकेटर बताया। बेस्ट ने कहा कि भले ही इंस्टाग्राम पर गेल अपने घर में ाqस्ट्रप क्लब की बात करते हों और गल्र्स के साथ वाली फोटो पोस्ट करते हों, लेकिन वह वास्तव में इन चीजों में उतना साथ नहीं देते, जितना कि ड्वेन ब्रावो देते हैं। ब्रावो तो इस ‘क्राइम’ में भरपूर सहयोग करते हैं और रात में उसका आनंद उठाते हैं। उन्होंने अपनी ऑटोबायोग्राफी का नाम ‘माइंड द िंवडोज’ भी एक घटना के आधार पर रखा है। दरअसल २००४ में जब वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड का दौरा किया था उस समय िंफ्लटॉफ ने बेस्ट के ऊपर कमेंट करते हुए उन्हें ”माइंड द िंवडोज’ कहा था। अब िंफ्लटॉफ ने ही इस किताब की प्रस्तावना लिखी है। टीनो तेज गेंदबाज के रूप में वेस्टइंडीज के लिए २५ टेस्ट मैच खेल चुके हैं और ५७ विकेट लिए हैं। उन्होंने आखिरी टेस्ट दिसंबर २०१३ में न्यूजीलैंड के खिलाफ हेमिल्टन में खेला था, वहीं अंतिम वनडे न्यूजीलैंड के खिलाफ जनवरी २०१४ में नेल्सन में खेला था।