श्रीलंका के खिलाफ आज जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया


– शाम ७ः३० से शुरू होगा मैच
पुणे । श्रीलंका के खिलाफ आज यहां पहले टी-२० क्रिकेट मैच में महेन्द्र सिंह धोनी की टीम इंडिया जीत के इरादे से उतरेगी। आस्टे्रेलिया के खिलाफ टी-२० में मिली ३-० से लगातार जीत से टीम इंडिया के हौंसले बुलंद हैं। अब टीम इंडिया तीन मैचों की इस श्रृंखला में श्रीलंका के खिलाफ भी जीत का यही सिलसिला बरकरार रखना चाहेगी। इस मैच में भारतीय टीम में अनुभवी और युवा खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। श्रीलंका के खिलाफ यह श्रृंखला एशिया कप और उसके बाद होने वाले आईसीसी टी-२० विश्व कप को देखते हुए काफी अहम मानी जा रही हैै।
धोनी की इस टीम में पवन नेगी, जसप्रीत बुमराह, र्हािदक पांडया युवा और नये चेहरे हैं जिन्हें विश्वकप के लिये भी टीम का हिस्सा बनाया गया है और उनके लिये बड़े टूर्नामेंटों में उतरने से पहले यह तैयारी का आखिरी और अहम मौका होगा जब उन्हें अंतरराष्ट्रीय टीम और पूर्व ट्वंटी २० चैंपियन श्रीलंका के खिलाफ खेलने का मौका मिल रहा है।
इसके अलावा अनुभवी ऑफ ाqस्पनर हरभजन िंसह, तेज गेंदबाज आशीष नेहरा और आलराउंडर युवराज िंसह भी विश्वकप से पहले लय हासिल करना चाहेंगे।
टीम से बाहर रहने और फिर मुश्किल से वापसी के बाद आईसीसी टूर्नामेंट के लिये टीम में जगह बनाने तक का सफर तय करने वाले इन खिलाड़ियों के लिये भी अपनी उपयोगिता और चयन को साबित करने के लिये श्रीलंका के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने का अच्छा अवसर है।
टेस्ट कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में रोहित शर्मा , शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे पर बल्लेबाजी की जिम्मेदारी रहेगी। तेज गेंदबाज उमेश यादव की गैरमौजूदगी में भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बमराह पर गेंदबाजी की जिम्मेदारी होगी।
भुवनेर और अिंजक्या रहाणे दोनों ही आस्ट्रेलिया के खिलाफ ट्वंटी २० सीरीज में चोट के कारण बाहर हो गये थे लेकिन दोनों ही फिट होकर वापसी कर रहे हैं। वहीं घरेलू टूर्नामेंट में कमाल के प्रदर्शन की बदौलत विकप टीम का हिस्सा बने और आईपीएल नीलामी में आठ करोड़ से अधिक रकम पाने वाले नेगी पर भी सभी की निगाहें लगी ह। नेगी ने सैयद मुश्ताक अली ट्वंटी २० घरेलू टूर्नामेंट में दिल्ली के लिये नौ मैचों में १७३ रन बनाये थे और ३३.६६ के औसत से छह विकेट भी हासिल किये थे।
युवा खिलाड़ियों में मध्यम तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और र्हािदक पांडया भी अहम साबित हो सकते हैं। दोनों खिलाड़ी विश्वकप टीम का हिस्सा हैं। इन युवा खिलाड़यिों ने राष्ट्रीय टीम के सीनियर खिलाड़ियों से लेकर चयनकर्ताओं को प्रभावित किया है। बुमराह आस्ट्रेलिया में तीन मैचों में १७.१६ के औसत से छह विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे थे जबकि पांडया ने तीन विकेट लिये थे।
वहीं दूसरी ओर एंजिलो मैथ्यूज की कप्तानी वाली मेहमान श्रीलंका टीम भी अपनी ओर से जीत के पूरे प्रयास करेगी। अनुभवी बल्लेबाज तिलकरत्ने दिलशान भारत के खिलाफ पहला टी-२० मैच नहीं खेलेंगे। दिलशान चोट के कारण पहले टी२० अंतरराष्ट्रीय मैच से बाहर हो गए हैं। क्रिकेट श्रीलंका उनकी जगह विकेटकीपर बल्लेबाज निरोशन डिकवेला को टीम में शामिल किया है। श्रीलंकाई टीम में ज्यादातर युवा खिलाड़ी हैं, ऐसे में अनुभव की कमी उसके लिए एक बाधा है। इसके बाद भी टीम में दिनेश चांदीमल , लाहिरू थरंगा जैसे बेहतरीन खिलाड़ी हैं जो किसी भी मैच को बदल सकते हैं।