विश्वकप- टीम इंडिया आज ऑस्ट्रेलियाई टीम से भिड़ेगी


० दूसरा सेमीफाइनल आज
सिडनी। टीम इडिया विश्वकप क्रिकेट जीतने से बस दो कदम दूर है। गुरूवार को यहां सेमीफाइनल में टीम इंडिया का सबसे कठिन मुकाबला मेजबान ऑस्ट्रेलियाई टीम से होगा। इस मैच के बेहद रोमांचक होने की उम्मीदें है। स्टेडियम में भारतीय समर्थकों की भारी मौजूदगी टीम इंडिया का उत्साह बढ़ाने के लिए पर्याप्त होगी। विश्वकप के सभी मैच जीतने से उत्साहित टीम इंडिया का मनोबन काफी बड़ा है और अब वह तीसरी बार खिताब जीतने के लिए किसी भी टीम को हराने की क्षमता रखती है। टीम इंडिया अपनी मजबूत बल्लेबाजी के लिए जानी जाती हैं पर इस बार तो उसके गेंदबाजों ने अपने शानदार प्रदर्शन से सबको हैरान कर दिया है। इसके बावजूद मेजबान टीम को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता , इसलिए भारतीय टीम को उपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। मेजबान टीम अपने प्रदर्शन के साथ ही मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने में भी माहिर है। उसके खिलाड़ी जीत के लिए छींटाकसी से भी बाज नहीं आयेंगे।
विश्वकप से ठीक पहले अपने आस्ट्रेलियाई दौरे में टीम इंडिया को टेस्ट और एकदिवसीय में कड़ी शिकस्त झेलनी पड़ी थी और अब टीम इंडिया सेमीफाइनल में एक मैच से ही हिसाब बराबर करना चाहेगी। वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम एक बार फिर जीत हासिल कर अपने देश में एक और खिताब की ओर कदम बढ़ाना चाहेगी। मेजबान टीम बल्लेबाजी के साथ ही गेंदबाजी में भी अव्वल है। उसके पास डेविड वार्नर , स्टीवन स्मिथ और कप्तान माइकल क्लार्वâ जैसे बल्लेबाज हैं वहीं मिशेल स्टार्वâ जैसे तेज गेंदबाज है। भारतीय बल्लेबाजी का दारोमदार विराट कोहली , रोहित शर्मा , सुरेश रैना जैसे बल्लेबाजी पर रहेगा। गेंदबाजी की कमान मोहम्मद शमी संभालेंगे।
क्रिकेट के इतिहास में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एशेज प्रतिद्वंद्विता और भारत-पाकिस्तान मुकाबलों के अलावा पिछले कुछ साल में भारत और ऑस्ट्रेलिया के मैच बेहद संघर्ष पूर्ण रहे हैं। यह मुकाबला वार्नर की बल्लेबाजी और शमी की गेंदबाजी का भी होगा, स्टार्वâ की कहर तूफानी गेंदों और रनों के रूप में विराट के बल्ले का भी होगा, आर अश्विन की फिरकी और ग्लेन मैक्सवेल की आक्रामक बल्लेबाजी का भी होगा।
सभी की नजरें विराट पर होंगी जो पहले मैच में पाकिस्तान के खिलाफ शतक बनाने के बाद से एक अर्धशतक भी नहीं बना सके है। विराट हालांकि दबाव में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में माहिर हैं और उनके पास यह सबसे बड़ा मौका है। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर दोनों टीमें कल एक दूसरे के आमने सामने होंगी तो यह मुकाबला तकरीबन बराबरी का होगा जिसमें पिछले प्रदर्शन मायने नहीं रखेंगे।
मौजूदा फार्म के आधार पर देखें तो भारत ने टूर्नामेंट में लगातार सात जीत दर्ज की है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दोनों प्रारूपों में वह पिछले सात मैचों (दो टेस्ट, दो वनडे और एक अभ्यास मैच) में जीत दर्ज नहीं कर सका है जिसमें विश्व कप का एक अभ्यास मैच शामिल है।
ऑस्ट्रेलिया दौरे के उस शर्मनाक प्रदर्शन का को भारत ने विश्व कप में शानदार खेल दिखाकर दूर कर दिया। विश्व कप शुरू होते ही लचर प्रदर्शन कर रही टीम इंडिया का अचानक मानो कायाकल्प हो गया और उसके प्रदर्शन ने विरोधियों को भी हैरान कर दिया है। आम तौर पर भारत की कमजोर कड़ी मानी जाने वाली गेंदबाजी इसबार उसकी ताकत साबित हुई है। मोहम्मद शमी (१७ विकेट), उमेश यादव (१४) और मोहित शर्मा (११) मिलकर ७० में से ४२ विकेट लिए हैं। भारतीय गेंदबाजों ने सात मैचों में पूरे ७० विकेट लिए हैं।
ऑस्ट्रेलिया के लिये सबसे बड़ी चुनौती सिडनी की पिच होगी, जो उसे रास नहीं आती। इस धीमी पिच पर दक्षिण अप्रâीका ने क्वार्टर फाइनल में श्रीलंका को हराया था, जिसमें स्पिनर इमरान ताहिर ने चार और जेपी डुमिनी ने तीन विकेट लिये थे। ऐसे में भारत के अश्विन और रिंवद्र जडेजा उन पर भारी पड़ सकते हैं। अश्विन १२ विकेट ले चुके हैं और अपनी गेंदों से ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के लिये परेशानी का कारण बन सकते हैं। दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया को टीम में एक अच्छे ाqस्पनर की कमी खलेगी। उसके पास धीमे गेंदबाज के रूप में सिर्पâ स्टीवन ाqस्मथ हैं।
इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान समेत अधिकांश विशेषज्ञों की राय है कि टॉस जीतने वाली टीम को पहले बल्लेबाजी चुननी चाहिये। भारतीय बल्लेबाजों ने अभी तक शानदार प्रदर्शन किया है। शिखर धवन ३६७ रन बना चुके हैं लेकिन उनके लिये यह पिच आसान नहीं होगी क्योंकि आफ स्टम्प पर पड़ती उछालभरी गेंदों ने उन्हें अक्सर परेशान किया है स्टार्वâ और जानसन उनकी इस कमजोरी का पूरा फायदा उठाना चाहेंगे।
रोहित शर्मा का बल्ला क्वार्टर फाइनल तक खोमोश था, लेकिन बांग्लादेश के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में उन्होंने १३७ रन बनाये। ऑस्ट्रेलिया को याद होगा कि एमसीजी पर त्रिकोणीय श्रृंखला के पहले मैच में रोहित ने उनके खिलाफ १३८ रन बनाये थे, जिसके बाद वह हैमिंस्ट्रग चोट का शिकार हो गए थे।
ऑस्ट्रेलिया के लिये ग्लेन मैक्सवेल मैच विजेता साबित हो सकते हैं जिन्हें आईपीएल की वजह से भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ खेलने का खासा अनुभव है। मिशेल स्टार्वâ गेंदबाजी में और डेविड वार्नर बल्लेबाजी में खतरनाक साबित हो सकते हैं जबकि शेन वाटसन भी फार्म में लौट चुके हैं। टूर्नामेंट के अब सिर्पâ दो मैच बाकी है और ऐसे में दोनों कप्तानों के लिये भी बहुत कुछ दांव पर लगा है। माइकल क्लार्वâ वनडे टीम में उनकी उपयोगिता को लेकर सवाल उठा रहे आलोचकों को खामोश कर सकते हैं या महेंद्र िंसह धौनी लगातार दो विश्व कप जिताकर भारतीय क्रिकेट के इतिहास में अपना नाम अमर करेंगे इसका पैâसला गुरूवार को होगा। जिस प्रकार न्यूजीलैंड और दक्षिण अप्रâीका के बीच पहला सेमीफाइनल बेहद रोमांचक रहा था वैसे ही इस बार भी होने की संभावनाएं है। इस मैच का लोग दिल थाम के इंतजार कर रहे है। टीम इंडिया की जीत के लिए लोग मंदिरों और धार्मिक स्थलों पर दुआ मांग रहे हैं।
दोनो टीमें इस प्रकार हैं।
भारत :
महेंद्र िंसह धौनी (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, अिंजक्य रहाणे, विराट कोहली, सुरेश रैना, आर अश्विन, रिंवद्र जडेजा, मोहित शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार, अक्षर पटेल, अंबाती रायुडू, स्टुअर्ट बिन्नी।
ऑस्ट्रेलिया :
माइकल क्लार्वâ (कप्तान), जार्ज बेली, डेविड वार्नर, आरोन िंफच, शेन वाटसन, स्टीवन ाqस्मथ, ब्राड हाडिन, ग्लेन मैक्सवेल, मिशेल मार्श, जेम्स फाकनेर, मिशेल जानसन, मिशेल स्टार्वâ, जोश हेजलवुड, पैट किंमस, जेवियर डोहर्टी।

 
भारतीय स्पिनरों से सावधान रहें ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाज : वार्न
सिडनी। विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले से पहले ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज ाqस्पन गेंदबाज शेन वार्न ने मेजबान देश के बल्लेबाजों को भारतीय स्पिनरों से सावधान रहने कहा है। वार्न ने कहा कि अगर बल्लेबाजों ने गलतियां की तो वह भारी पड़ेंगी। इसके साथ ही वार्न ने बल्लेबाजों को स्पिन खेलने के टिप्स दिये और अभ्यास भी कराया।
दुनिया के सार्वकालिक महान ाqस्पन गेंदबाजों में शामिल वार्न ने नेट्स में आस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्वâ को गेंद डाली। ऐसा माना जा रहा है कि सिडनी क्रिकेट मैदान (एससीजी) की पिच ाqस्पन गेंदबाजों के लिए ज्यादा सहायक रहेगी। यह हालांकि अभी भी साफ नहीं है। टीम इंडिया के पास रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा जैसे ाqस्पन गेंदबाज हैं जिसका फायदा मौजूदा टीम इंडिया उठा सकती है।
इसके अलावा सुुरेश रैना और रोहित शर्मा जैसे गेंदबाज भी भारत के लिए अहम भूमिका निभा सकते हैं। दूसरी ओर, अगर एससीजी की पिच सपाट होती है तो ाqस्पनर जेवियर डोहार्टी को आस्ट्रेलियाई टीम में मौका मिल सकता है।

 

विश्वकप- टीम इंडिया की जीत के लिए पूजापाठ का सहारा ले रहे प्रशंसक
रांची। विश्वकप क्रिकेट के सेमीफाइनल में गुरूवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले अहम मुकाबले से पहले जहां टीम इंडिया अभ्यास में लगी है। वहीं क्रिकेट प्रशंसक पूजा पाठ और भगवान का आर्शिवाद ले रहे हैं। टीम इंडिया के कप्तान धोनी के प्रशंसकों ने यहां के प्राचीन देवड़ी मां मंदिर में पूजा अर्चना कर भारतीय टीम की जीत की मन्नत मांगी। धोनी की देवड़ी मां बहुत आस्था है और हर दौरे के पहले वह मां के दर्शन जरूर करते हैं। धोनी के प्रशंसकों को भरोसा है कि इस बार भी टीम इंडिया ही खिताब जीतेगी। रांची की तरह ही देश भर के धार्मिक स्थलों में क्रिकेट प्रशंसक जीत की दुआ मांग रहे हैं। वाराणसी, कानपुर, मेरठ में हवन कर जीत की अराधना की गई तो, शाहजहांपुर में एक साधु सिर के बल खड़े होकर जीत के लिए तपस्या कर रहे हैं।
अयोध्या में अखंडपाठ- वहीं भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या में तो धोनी की टीम की जीत के लिए अखंडपाठ किया जा रहा है। वाराणसी में हवन- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत के लिए हवन किया जा रहा है।
कानपुर में महाआरती- वहीं कानपुर में भी टीम इंडिया की जीत के लिए महाआरती का आयोजन किया गया है। एनसीआर से सटे मेरठ में भी टीम इंडिया की जीत की दुआ मांगी जा रही है। मेरठ में टीम इंडिया की जीत के लिए विशेष पूजा का आयोजन किया गया।
भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन शानदार : ब्रेट ली
सिडनी । आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने भारतीय टीम के तेज गेंदबाजों मोहम्मद शमी, मोहित शर्मा और उमेश यादव की जमकर तारीफ करते हुए कहा है कि इनका सामना करना आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होगा। अपनी तूफानी तेज गेंदबाजी से बल्लेबाजों को दहशत में डाल देने वाले ली ने कहा कि अगर यह भारतीय तिकड़ी लय में रही तो टीम इंडिया का पलड़ा भारी हो जाएगा।
शमी, उमेश और मोहित की तिकड़ी ने विश्वकप में जबर्दस्त प्रदर्शन किया है और टूर्नामेंट में अभी तक टीम इंडिया के सातों मैच जीतने में अहम भूमिका निभाते हुए ४२ विकेट लेकर खासे सफल रहे हैं। यह गेंदबाज सधी हुई लाइन और लेंथ के साथ तेज रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे हैं। तीनों ही गेंदबाज १४५ किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार को भी पार कर रहे हैं और अगर सेमीफाइनल में इन्होंने अपना दमखम दिखा दिया तो आस्ट्रेलिया के लिए मुश्किल हो जाएगी। ली ने कहा कि तेज गेंदबाजी करना केवल काम ही नहीं है बाqल्क यह पहचान भी है और तीनों ही गेंदबाज बखूबी यह काम कर रहे हैं।

 

विश्वकप- फार्म पर सवाल उठाने वालों पर भड़के क्लार्वâ
-किसी भी अच्छे खिलाड़ी की तरह है रिकार्ड
सिडनी। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्वâ ने कहा कि मेरा फार्म किसी भी अच्छे खिलाड़ी जैसा ही है। इससे पहले विश्वकप में क्लार्वâ के फार्म को लेकर कुछ लोगों ने सवाल उठाये थे। साथ ही कहा था कि उन्हें शामिल करने से संतुलन खराब हो रहा है। क्लार्वâ विश्व कप की ४ पारियों में सिर्पâ १३५ रन ही बना सके हैं हालांकि एकदिवसीय क्रिकेट में उनका रिकॉर्ड किसी भी दूसरे खिलाडियों की तरह ही अच्छा रहा है। अब तक अपने केरियर के २४३ एकदिवसीय मैचों में क्लार्वâ ने ७८९७ रन बनाये हैं। उन्होंने कहा कि हर किसी को अपनी राय रखने का हक है। मैंने २०० मैच खेले हैं और मुझे लगता है कि हर किसी से मेरे रिकॉर्ड की तुलना की जाने लगती है जो ठीक नहीं है। मुझे यह तय करना होगा कि बतौर बल्लेबाज और कप्तान मैं अच्छा प्रदर्शन करूं। सेमीफाइनल मैच को लेकर , क्लार्वâ ने कहा, मैंने इस बारे में बहुत नहीं सोचा है। मैंने कल अपने कॉलम में भी लिखा था कि यह मैच उतना ही बड़ा है जितना क्रिकेट खेलने वाले हर देश और क्रिकेटप्रेमियों के लिए होगा। उन्होंने कहा, एक खिलाड़ी के तौर पर हमारे लिए यह आम मैचों की तरह है। अपने करियर में चोटों से परेशान रहे क्लार्वâ ने कहा कि उन्होंने अपना सब कुछ खेल को दिया है और ऑस्ट्रेलिया के लिए अच्छा प्रदर्शन करने में कोई कसर नहीं रख छोड़ी। उन्होंने कहा, हर मैच में मैंने टीम की सफलता के लिए अच्छे प्रदर्शन की कोशिश की है और इस मैच में भी करूंगा। पिच के बारे में उन्होंने कहा कि यह बल्ले और गेंद के बीच बराबरी का मुकाबला होगा। उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि एससीजी का विकेट अच्छा है। बल्लेबाजों और गेंदबाजों के बीच बराबरी का मुकाबला होगा। तेज गेंदबाजों को िंस्वग और उछाल मिलेगी।

टीम इंडिया जानती है वैâसे जीते जाते हैं बड़े मैच : रोहित

सिडनी। टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा है कि बड़े मुकबलों में जीतना टीम इंडिया को आता है। यही हमारे लिए अहम है।
रोहित ने मैच से पहले कहा, मुझे ऐसा लगता है क्योंकि हम सभी बड़े मैच खेल चुके हैं। इससे हमें बड़े मैचों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की प्रेरणा मिलती है। उम्मीद है कि यह मुकाबला भी रोमांचक होगा। उन्होंने कहा कि एक दूसरे की सफलता का आनंद लेकर ही टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे के खराब प्रदर्शन से उबरकर विश्व कप में बेहतरीन खेल सकी।
उन्होंने कहा, हम सभी एक दूसरे की सफलता का पहले से कहीं अधिक मजा ले रहे हैं। गेंदबाजी हो या बल्लेबाजी। मैंने शुरुआत में ही कहा कि हम सभी बड़े मैच खेल चुके हैं इसलिए हमें पता है कि जीतने के लिए क्या चाहिए। हमें अच्छी शुरुआत करनी होगी। वहीं उपकप्तान विराट कोहली ने कहा कि टीम इंडिया के गेंदबाज शानदार प्रदर्शन करेंगे और टीम आस्ट्रेलिया को करारा जवाब देगी।

 

ऑस्ट्रेलिया से हिसाब बरारबर करने का सुनहरा मौका : विराट
सिडनी । टीम इंडिया के उपकप्तान विराट कोहली ने कहा कि गुरूवार को विश्वकप सेमीफाइनल में आस्टे्रलियाई टीम को हराकर पुराने हिसाब बराबर करने का एक बेहद सुनहरा अवसर हमारे सामने है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) की वेबसाइट के अनुसार कोहली ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया को हराने का इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा। यही हमारे लिए वह मौका है जब हम ऑस्ट्रेलिया में हाल में किए अपने खराब प्रदर्शन को पीछे छोड़ने में कामयाब हो सकते हैं। भारतीय टीम को विश्वकप से ठीक पहले ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट और उसके बाद त्रिकोणीय श्रृंखला में करारी शिकस्त दी थी। दो माह के ऑस्ट्रेलिया दौरे में टीम इंडिया एक भी मैच जीत नहीं पाई। ऐसे में टीम इंडिया अगर वंâगारूओं को घरेलू मैदान पर हराकर खिताबी मुकाबले से बाहर कर देती हैं तो यह एक बड़ी उपलब्धि होगी। विराट ने कहा पर इसके लिए हमें तत्काल जरूरी सुधार करने होंगे क्योंकि हमारे पास समय नहीं है। भारतीय गेंदबाजों की तारीफ करते हुए विराट ने कहा, ‘गेंदबाजों ने अब तक जैसा आक्रामक प्रदर्शन किया है वह हैरान करने वाला है पर खिताब हासिल करने के लिए गेंदबाजों को अपना स्तर और उठाना होगा। हमने हालांकि अभी तक जो प्रदर्शन किया है वह शानदार है। अगर हम इस प्रदर्शन को जारी रखते हैं तो हमारी जीत की संभावना काफी ज्यादा होगी।’