रोहित के शतक से भारत ने ऑस्ट्रेलिया को दिया 309 का लक्ष्य


ब्रिस्बेन। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के लगातार दूसरे शतक के साथ ही विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे की शानदार बल्लेबाजी की सहायता से टीम इंडिया ने दूसरे एकदिवसीय में ऑस्ट्रेलिया को ३०९ रनों का लक्ष्य दिया है। इससे पहले रोहित के १२४ रनों के साथ ही विराट ने ५९ और रहाणे ने ८९ रनों की पारी खेली। इस प्रकार भारत ने आठ विकेट पर ३०८ रन बनाये। कप्तान एमएस धोनी ९ गेंदों में ११ रन बनाकर वैâच दे बैठे। उन्हें स्कॉट बोलैंड की गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल ने लपका। वहीं मनीष पांडे ने ६ रन के निजी स्कोर पर वैâच थमा दिया।
इससे पहले रोहित शर्मा १२७ गेंदों में १२४ रन बनाकर आउट हो गए। ४३वें ओवर में रहाणे ने फॉल्कनर की गेंद को सीधे बल्ले से सामने की ओर खेला और गेंद फॉल्कनर के हाथ को छूती हुई विकेटों में जा लगी। इस दौरान रोहित क्रीज से बाहर थे और उन्हें आउट करार दिया गया। रोहित ने अपनी इस पारी में ११ चौके और ३ छक्के लगाए।
– रोहित शर्मा का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ५वां शतक
विराट के आउट होने के बाद रोहित ने एक छोर से अपनी शानदार पारी जारी रखी। इस बीच रहाणे ने उनका बखूबी साथ दिया। रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्तमान सीरीज में लगातार दूसरा शतक जड़ा। उन्होंने पर्थ में नाबाद १७१ रनों की पारी खेली थी। यह उनके करियर का १०वां शतक है, वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह उनका ५वां शतक है।
– लक्ष्मण से निकले आगे
रोहित ने १११ गेंदों में १०० रन पूरे किए, जिसमें ८ चौके और ३ छक्के शामिल रहे। इस शतक के साथ रोहित भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबा़ज वीवीएस लक्ष्मण से आगे निकल गए हैं। लक्ष्मण के नाम ऑस्ट्रेलिया में ३ वनडे शतक थे, वहीं रोहित के नाम अब ४ शतक हो गए हैं। इसके साथ ही वे ऑस्ट्रेलिया में विश्व के दूसरे सबसे कामयाब बल्लेबा़ज बन गए हैं। ऑस्ट्रेलियाई ़जमीन पर रोहित से ज्यादा शतक श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर कुमार संगकारा के नाम हैं
सीरीज में दूसरी बार टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया को शिखर धवन और रोहित शर्मा से अच्छी शुरुआत की उम्मीद थी, लेकिन धवन ६ के निजी स्कोर पर तीसरे ओवर में ही पैवेलियन लौट गए। उन्हें जोएल पेरिस ने विकेट के पीछे मैथ्यू वेड के हाथों वैâच कराया। उस समय टीम का स्कोर ९ रन था। पर्थ वनडे में भी शिखर महज ९ रन ही बना पाए थे। धवन के आउट होने पर आए कोहली ने रोहित के साथ पारी को आगे बढ़ाया और ३८ रन की साझेदारी की। आस्ट्रेलिया की और से फॉकनर ने दो जबकि पेरिस, हेस्टिंग और बोलैंड ने एक-एक विकेट लिया।