मैक्लम ने रचा इतिहास, लगाया टेस्ट का सबसे तेज शतक


क्राइस्टचर्च । टेस्ट इतिहास में सबसे तेज शतक लगाने का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्लम के नाम दर्ज हो गया है। न्यूजीलैंड के इस स्टार बल्लेबाज और कप्तान ब्रैंडन मैक्कलम ने अपने अंतिम टेस्ट को यादगार बनाते हुए अपने १०१वें टेस्ट में टेस्ट इतिहास का सबसे ते़ज शतक जड़ दिया। उन्होंने ५४ गेंदों पर शतक लगाकर विवियन रिचड्र्स और मिस्बाह-उल-हक का ५६ गेंद में शतक का रिकॉर्ड तोड़ा। अपने करियर का आखिरी टेस्ट मैच खेल रहे मैक्लम ने शनिवार को ऑस्ट्रेलिया के साथ जारी दूसरे टेस्ट मैच के दौरान यह र्कीितमान स्थापित करते हुए अपनी १४५ रनों की पारी में ७९ गेंदों का सामना किया और २१ चौके और छह छक्के लगाए। मैक्लम ने अपना अर्धशतक ३४ गेंदों पर पूरा किया और फिर अगले ५० रन मात्र २० गेंदों पर बना डाले। उनका शतक ५४ गेंदों पर पूरा हुआ, जिसमें १६ चौके और चार छक्के शामिल हैं।
सर विवियन रिचड्र्स की बात करें तो उन्होंने यह रिकॉर्ड इंग्लैंड के खिला़फ एंटिगुआ में १९८५-८६ में बनाया था। इसके अलावा पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक ने ऑस्ट्रेलिया के खिला़फ यह रिकॉर्ड २०१४-१५ में अबु-धाबी में बनाया था। मैक्कलम को ३२ और ३९ रन के निजी स्कोर पर जीवनदान भी मिला। वे ७९ गेंदों में १४५ रन बनाकर आउट हुए, जिसमें २१ चौके और ६ छक्के शामिल थे। मैक्लम ने ७८ मिनट विकेट पर बिताते हुए शतक पूरा किया। समय के लिहाज से यह टेस्ट इतिहास का चौथा सबसे तेज शतक है। सबसे तेज शतक (समय के लिहाज से) का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के जीएम ग्रेगरी के नाम है। ग्रेगरी ने १९२१ में दक्षिण अप्रâीका के खिलाफ मात्र ७० मिनट में सैकड़ा लगाया था। गेंदों की बात की जाए तो मैक्लम ने रिचर्डस का रिकॉर्ड ध्वस्त किया है। रिचर्डस ने १९८५-८६ में सेंट जोंस में इंग्लैंड के खिलाफ ५६ गेंदों पर शतक लगाया था। पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक ने भी ५६ गेंदों पर शतक लगाया है।