बल्ले के आकार को छोटा न करें : गेल


िंकग्स्टन। वेस्टइंडीज के आक्रामक सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल ने कहा है कि बल्ले के आकार को सीमित नहीं किया जाना चाहिये। गेल ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से बल्ले के आकार को तय करने के प्रस्ताव को खारिज करने कहा है। गेल ने कहा, ‘बड़ी कद-काठी के खिलाड़ियों के लिए बड़े बल्ले की जरूरत होती है। लोग कहते हैं यह बल्लेबाजों का खेल रह गया है, परन्तु सच यह है कि गेंदबाजों ने भी अपने कौशल में काफी बेहतर बदलाव किए हैं।’ वहीं ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने भी गेल और ४५ मिलीमीटर मोटे बल्ले से खेलने वाले ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर का समर्थन किया। अभी तक बल्ले की मोटाई पर कोई रोक नहीं है और कई बल्लेबाज इसका फायदा उठाते हुए बेहद मोटे बल्ले से खेलते हैं। ब्रेट ली ने कहा, ‘अगर गेल और वार्नर जैसे खिलाड़ी ज्यादा भारी बल्ला उठाने में सक्षम हैं तो यह अच्छा है। यह खेल को और रोचक बनाता है।’
इस मामले में ऑस्ट्रलिया के पूर्व बल्लेबाज माइकल बेवन का विचार इनसे अलग है। बेवन के अनुसार, ‘हाल के वर्षों में गेंद के मुकाबले बल्ले में काफी सुधार हुए हैं। ऐसे में बल्ले और गेंद के बीच संतुलन बनाए रखना जरूरी है। अगर सभी गेंदों पर छक्के लगने लगे तो शायद ही कोई इस खेल को देखना चाहे।’ उल्लेखनीय है कि आईसीसी के प्रमुख डेविड रिचर्डसन ने बुधवार को कहा था कि मौजूदा दौर का क्रिकेट बल्लेबाजों के ज्यादा अनुरूप हो गया है। रिडर्चसन के अनुसार गेंद और बल्ले में संतुलन बनाए रखने के लिए बल्ले के आकार पर विचार किया जाएगा।