प्रतिस्पर्धी प्रतियोगिताओं से दूर रहना सुशील के खिलाफ गया : िंबद्रा


– नरिंसह का समर्थन करने रियो जायें
ेनई दिल्ली। ओलंपिक स्वर्ण विजेता निशानेबाज अभिनव िंबद्रा ने कहा है कि प्रतिस्पर्धी प्रतियोगिताओं से दूर रहने का नुकसान पहलवान सुशील कुमार को उठाना पड़ा है। इससे पहले सुशील के रियो ओलंपिक में जाने की उम्मीदें उस समय समाप्त हो गई थी जब दिल्ली हाई कोर्ट ने चयन ट्रायल की मांग करने वाली उनकी याचिका खारिज कर दी।
िंबद्रा ने कहा, “उसके साथ ाqस्थति काफी जटिल थी। असल में सभी महासंघों को अपनी नीतियों को लेकर स्पष्ट होना चाहिए और उन्हें खेलों के लिए खिलाड़ियों की क्वालीफिकेशन प्रक्रिया शुरू होने से पहले इसे सार्वजनिक कर देना चाहिए।”िंबद्रा ने कहा, “सुशील महान खिलाड़ी है और उसने जो हासिल किया उससे इनकार नहीं किया जा सकता लेकिन हमने पिछले दो वर्षों से उसे प्रतियोगिता में हिस्सा लेते हुए नहीं देखा और यह शायद उसकी चोट के कारण था लेकिन यह उसके खिलाफ गया।” बीिंजग ओलंपिक २००८ में १० मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक जीतने वाले दिग्गज निशानेबाज िंबद्रा ने कहा, “अगर आप उसके लिए ट्रायल कराते हो तो उन्हें अन्य के लिए भी ट्रायल कराने होंगे। भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ की चयन नीति है और इस नीति पर बहस हो सकती है परन्तु आपको इसके लिए उन्हें श्रेय देना होगा।” िंबद्रा ने इससे पहले ट्वीट किया, “सुशील कुमार महान खिलाड़ी है। उसको बाहर से नरिंसह का समर्थन करने के लिए रियो जाना चाहिए। इससे उसका दर्जा बढ़ेगा।”