विश्व कप के लिए नई गेंद तैयार कर रहे चहल


(Photo: Surjeet Yadav/IANS)

नई दिल्ली (ईएमएस)। टीम इंडिया के कलाई के लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल विश्व कप में बल्लेबाजों को हैरान करने के लिए एक नए हथियार पर काम कर रहे हैं। चहल के कोच रणधीर सिंह ने कहा, इंग्लैंड की पिचें कलाई के स्पिनरों के अनुकूल रहती हैं और ऐसे स्पिनरों के सफल होने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। इंग्लैंड की पिचें पहले के मुकाबले काफी बदली हैं और स्पिनरों खास तौर पर कलाई के स्पिनरों को मदद करती हैं। मुझे चहल के साथ-साथ चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव से काफी उम्मीदें हैं। चहल ने अब तक 41 एकदिवसीय मुकाबलों में 72 विकेट लिए हैं।

रणधीर ने कहा, ‘इंग्लैंड में अभी बल्लेबाजों को पिच से सहायता मिल रही है। इंग्लैंड और पाकिस्तान में लगातार 350 के आसपास के स्कोर बन रहे हैं। जून के महीने में तो पिच और टूटेगी जिससे स्पिनरों को खास तौर पर लाभ होगा।’ रणधीर ने कहा, ‘वह कई साल से टीम इंडिया में खेल रहा है और उसका प्रदर्शन अच्छा रहा है, चाहे वह आईपीएल हो या फिर अंतररष्ट्रीय क्रिकेट। वह विश्व कप के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है और एक नया हथियार तैयार कर रहा है जिससे वह दुनिया के बल्लेबाजों को हैरान कर सके।’

इस नई गेंद का खुलासा विश्व कप में ही होगा। जब आप कई साल से अंतररष्ट्रीय क्रिकेट में खेल रहे होते हैं तो बल्लेबाज आपकी गेंदों को पढ़ लेते हैं। ऐस में मैंने उससे यही कहा था कि विश्व कप के लिए कुछ नया होना चाहिए जो अब तक किसी भी बल्लेबाज को पता न हो। वह दो-तीन ऐसी गेंदें डालता है जो सबको पता हैं लेकिन उसने ऐसी नई गेंद तैयार करने पर काम किया है जो बल्लेबाज को हैरत में डाले और मुझे पूरा भरोसा है कि उसे सफलता मिलेगी।