खिताब जीतने ईशांत, उमेश जैसे तेज गेंदबाजों को फिट रखे भारत: ली 


मेलबोर्न । ऑस्टे्रलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा कि अगर मौजूदा चैम्पियन टीम इंडिया को आईसीसी विश्वकप क्रिकेट जीतना है तो उसे अपने तेज गेंदबाजों की फिटनेस ठीक रखनी होगी। ऑस्ट्रेलिया की २००३ की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे ली ने विशेष रूप से तेज गेंदबाजों ईशांत शर्मा और उमेश यादव का जिक्र किया जिन्हें भारतीय आक्रमण की कमान संभालनी होगी। ली ने एक कार्यक्रम में कहा उसके तेज गेंदबाज पूरी तरह से फिट रहें। मेरे हिसाब से ईशांत बहुत अहम भूमिका निभा सकता है। इसके अलावा उमेश है जिसे पर्थ में खेले गये हाल के मैच में विश्राम दिया गया था। वह चोटिल था या उसे विश्व कप से पहले विश्राम दिया था यह पता नहीं है। तेजी गेंदबाजी आक्रमण मजबूत रखना भारत की जरूरत है। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसे तेज गेंदबाजों की जरूरत है जो अच्छे बाउंसर कर सकते हों और अच्छी धीमी गेंद भी कर सकते हों। इसके अलावा डेथ ओवरों के दौरान भी वे अपने कौशल का अच्छा नमूना पेश कर सवेंâ। मेरे कहने का मतलब है कि ऐसा गेंदबाज जो डेथ ओवरों में १४५ किमी की रफ्तार से यॉर्वâर करे जिससे टीम सफल रह सकती है। उन्होंने कहाकि यह इसलिए क्योंकि वे भारत जैसे विकेटों पर नहीं खेल रहे हैं जो धूल भरे होते हैं और गेंद टर्न और िंस्वग लेती है। यहां उन्हें तेज विकेटों पर खेलना है और इसके लिये उन्हें अच्छे और युवा तेज गेंदबाज चाहिए। उन्होंने कहा कि जो भी टीम सबसे अधिक परिपूर्ण होगी वही २९ मार्च को खिताब जीतेगी। यह मायने नहीं रखता कि कोई देश क्रिकेट में अव्वल है या उसकी टीम का प्रत्येक खिलाड़ी स्टार है। यह मायने रखता है कि जो टीम विश्व कप में सात सप्ताह तक अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगी वहीं चैंपियन बनेगी।”
ली ने कहा कि यदि आपका लक्ष्य सही नहीं है या आपका दिन खराब है या आपके खिलाड़ी खराब फॉर्म में या चोटिल हैं तो फिर कोई भी टीम आपसे विश्वकप छीन सकती है। मेरा मानना है कि भारत, दक्षिण अप्रâीका और न्यूजीलैंड की तरह ऑस्ट्रेलिया के पास भी विश्व कप जीतने का बहुत अच्छा मौका है।
ली से पूछा गया कि किस टीम का गेंदबाजी आक्रमण सबसे अधिक संतुलित है तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अप्रâीका का नाम लिया।