गोरखनाथ मंदिर को ‘टूरिस्ट स्पॉट’ बनाएगी योगी सरकार


गोरखनाथ मंदिर और देवीपाटन मंदिर, पर्यटन विभाग इन मंदिरों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की तैयारी में है।
Photo/wikipedia

गोरखपुर। सीएम योगी के गृहक्षेत्र गोरखपुर में स्थित गोरखनाथ मंदिर और देवीपाटन मंदिर के श्रद्दालुओं के बढ़े रुझान को देखते हुए पर्यटन विभाग इन मंदिरों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की तैयारी में है। इसके लिए केन्द्र सरकार ने भी मंजूरी दे दी है।

सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर के गोरक्षपीठाधीश्वर हैं। उनके सीएम बनने के बाद इन मंदिरों के प्रति पर्यटकों का आकर्षण लगातार बढ़ रहा है। स्वदेश दर्शन योजना के तहत इन मंदिरों को पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित करने के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय और संस्कृति मंत्रालय की भी संस्तुति मिल चुकी है। इन दोनों मंदिरों के लिए पर्यटन विभाग ने करीब 25 करोड़ रुपये का प्रस्ताव बनाकर संस्कृति मंत्रालय को भेजा है।

बताया जा रहा हैं कि पर्यटन विभाग की ओर से धन की स्वीकृति होते ही काम शुरू हो जाएगा। विभाग ने गोरखनाथ मंदिर के लिए करीब 16 करोड़ का और देवीपाटन मंदिर के लिए नौ करोड़ का प्रॉजेक्ट तैयार हुआ है। प्रॉजेक्ट में दोनों ही मंदिर परिसर में एक-एक पर्यटक आश्रय स्थल बनाए जाएंगे। इस आश्रय स्थल में हर वह सुविधा होगी, जो यात्रियों को एक-दो दिन रुकने के लिए जरूरी है। साथ ही मंदिर परिसर में टॉयलट, पेयजल की व्यवस्था, पाथ-वे, यात्री शेड, सोलर ट्यूबवेल साथ- साथ कई अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी।

– ईएमएस