उप्र : बावरिया गिरोह के इनामी समेत 2 डकैत गिरफ्तार


लखनऊ। उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की नोएडा यूनिट ने फरु खाबाद, बाराबंकी और लखनऊ के चिनहट, काकोरी और माल में डकैती व तीन लोगों की हत्या करने वाले बावरिया गिरोह के दो और सदस्यों को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया।

गौतमबुद्धनगर जिले के थाना नॉलेज पार्क क्षेत्र में हुई मुठभेड़ के दौरान साथी समेत में पकड़े गए डकैत दीपक बावरिया पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित है। उस पर गौतमबुद्ध नगर और लखनऊ में करीब 11 मुकदमें दर्ज हैं। डकैतों के पास से दो तमंचे और एक बिना नंबर की बाइक बरामद हुई है।

यूपी एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने बताया कि दोनों डकैतों की पहचान दीपक बावरिया मूल निवासी फरु खाबाद और  प्रदीप बावरिया मूल थाना डींग जनपद भरतपुर राजस्थान के रूप में हुई है। दोनों फिलहाल दिल्ली नजफगढ़ में रह रहे थे।

एसएसपी ने बताया कि दोनों को एसटीएफ की नोएडा युनिट ने मुखबिर की सूचना पर शनिवार तड़के दो बजे गौतमबुद्धनगर के थाना नॉलेज पार्क क्षेत्र स्थित जीएल बजाज इंस्टीट्यूट के पास से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया। दोनों यहां किसी वारदात को अंजाम देने आए थे।

पूछताछ में 50 हजार के इनामी दीपक बावरिया (24) ने बताया कि उसका गैंग के यूपी के अतिरिक्त हरियाणा, मध्य प्रदेश आदि कई शहरों में डकैती की घटनाओं को अंजाम दे चुका है। एसटीएफ गैंग के सरगना विनोद बावरिया और एक लाख के इनामिया राकेश उर्फ कालिया बावरिया समेत नौ सदस्यों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

एसएसपी ने बताया कि डकैत दीपक इससे पहले हरियाणा के फरीदाबाद और मध्य प्रदेश के मुरैना में डाली गई डकैती मामले में जेल जा चुका है। यही नहीं, दीपक के पिता राम प्रसाद और नाना कमल सिंह और प्रदीप बावरिया का पिता फूल सिंह भी डकैत था।

-आईएएनएस