सुशील मोदी की किताब ‘लालू लीला’ का लोकार्पण गुरुवार को


पटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की लिखी किताब ‘लालू लीला’ का लोकार्पण गुरुवार को पटना के विद्यापति भवन में होगा।

लेखक मोदी ने कहा, “प्रभात प्रकाशन द्वारा प्रकाशित तथा राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के परिवार की भ्रष्टाचारजनित अकूत बेनामी संपत्ति पर केंद्रित इस पुस्तक का लोकार्पण लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती के मौके पर यहां किया जाएगा।”

बकौल मोदी, इस पुस्तक में ने खोखा कंपनियों, दान, वसीयत, पावर ऑफ  एटॉर्नी और हर काम के बदले जमीन-मकान हथियाने के लालू परिवार के नायाब तरीके का सिलसिलेवार खुलासा किया है।

लेखक के अनुसार, “सत्ता और राजनीति लालू प्रसाद और उनके परिवार के लिए किस तरह से अवैध संपत्ति अर्जित करने का जरिया बनी, इसे पुस्तक उजागर करती है। लालू ने पत्नी, बेटों, बेटियों के लिए ही नहीं, आनेवाली तीन-तीन पीढ़ियों के लिए भी संपत्ति बटोरी है।”

इससे पहले, अपातकाल के दौरान जेल यातना के संस्मरणों पर आधारित पुस्तक ‘बीच समर में’ और लालू प्रसाद के चारा घोटाले पर लिखी मोदी की पुस्तिका ‘चारा चोर, खजाना चोर’ खासी चर्चित रही हैं।

पुस्तक के प्राक्कथन में केंद्रीय कानून व न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लिखा है कि सुशील मोदी की पुस्तक ‘लालू-लीला’ लालू परिवार के भ्रष्टाचार का जीवंत दस्तावेज है।

केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पुस्तक पर टिप्पणी करते हुए लिखा है, “लालू-लीला’ सार्वजनिक जीवन को भ्रष्टाचारमुक्त करने के सुशील मोदी के अथक संघर्ष का प्रामाणिक दस्तावेज है।”

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का भी मानना है कि भविष्य के लेखकों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के लिए ‘लालू-लीला’ एक संदर्भग्रंथ के रूप में उपयोगी साबित होगी।

लोकार्पण समारोह में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, राधा मोहन सिंह, गिरिराज सिंह, रामकृपाल यादव, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नित्यानंद राय, बिहार के मंत्री प्रेमकुमार, नंद किशोर यादव, श्रवण कुमार, मंगल पांडेय, पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद राजीव प्रताप रूडी व शाहनवाज हुसैन सहित कई लोग मौजूद रहेंगे।

-आईएएनएस