प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिक्किम में पेकयोन्ग हवाईअड्डे का उद्घाटन किया


(Photo: IANS/PIB)

पाक्योंग (सिक्किम)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को सिक्किम को हवाई नेटवर्क से जोड़कर देश के विमानन क्षेत्र में एक नया मील का पत्थर स्थापित किया। मोदी ने इस मौके पर पिछली सरकारों पर पूर्वोत्तर को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया और कहा कि पिछले चार वर्षो में उनकी सरकार ने 35 नए हवाईअड्डे खोले हैं।

सिक्किम में पाक्योंग हवाईअड्डे को राष्ट्र को समर्पित करने के बाद उन्होंने कहा,

आज, केवल सिक्किम के लिए ही नहीं, बल्कि देश के लिए भी एक ऐतिहासिक दिन है। यहां पाक्योंग हवाईअड्डे के उद्घाटन के बाद देश को उसका 100वां हवाईअड्डा मिल गया है।”

प्रधानमंत्री ने पिछली सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछले चार वर्षो में उनकी सरकार ने राष्ट्र को 35 हवाईअड्डे समर्पित किए हैं।

उन्होंने कहा,

आजादी मिलने के बाद से 2014 तक, हमारे पास सिर्फ 65 हवाईअड्डे थे। यानी की 67 साल में हमने केवल 65 हवाईअड्डे विकसित किए, एक साल में एक हवाईअड्डे से भी कम। लेकिन पिछले चार वर्षों में हमने 35 से अधिक हवाईअड्डे बनाए, यानी की प्रत्येक वर्ष करीब नौ हवाईअड्डे।”

पूर्वोत्तर राज्यों में कनेक्टिविटी पर जोर देते हुए मोदी ने कहा कि सिक्किम में नया हवाईअड्डा खुलने के साथ देश के अन्य हिस्सों के बीच दूरी कम होगी।

मोदी ने यह भी कहा कि सिक्किम और पूर्वोत्तर में बुनियादी संरचना और भावनात्मक संपर्क, दोनों पर काम चल रहा है।

पाक्योंग हवाईअड्डा सिक्किम का पहला हवाईअड्डा है, जो समुद्र तल से 4,500 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। इस हवाईअड्डे से सिक्किम की कनेक्टिविटी को काफी फायदा मिलेगा, विशेषकर पर्यटन क्षेत्र में।

उन्होंने कहा कि वह विकास कार्यो की समीक्षा के लिए कई दफा पूर्वोत्तर राज्यों में आते हैं। उन्होंने कहा, “और मेरी पहलों के कारण, प्रत्येक सप्ताह या दूसरे सप्ताह एक न एक केंद्रीय मंत्री इस क्षेत्र में हमेशा रहता है।”

मोदी ने कहा, “और इसके कारण, इस क्षेत्र का विकास देखने लायक है। चाहे वह सिक्किम हो या पूर्वोत्तर क्षेत्र का असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मणिपुर, नागालैंड और त्रिपुरा।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “यहां (सिक्किम) पहली बार विमान पहुंचे हैं। पूर्वोत्तर राज्यों में रेल कनेक्टिविटी पहली बार पहुंची, कई जगहों पर बिजली पहली बार पहुंची, पूर्वोत्तर क्षेत्र में राजमार्ग चौड़े हो रहे हैं, गांवों में सड़कें बनाई जा रही हैं, नदियों पर बड़े पुल बनाए जा रहे हैं, डिजिटल इंडिया क्षेत्र में फैल रहा है।”

 

–आईएएनएस