श्रीकृष्‍ण बन तेज प्रताप बोले 2019 और 2020 का चुनाव महाभारत जैसा


कांवड़ यात्रा के दौरान भगवान शिव का रूप धारण करने वाले तेज प्रताप इन दिनों भगवान कृष्‍ण की नगरी मथुरा के दौरे पर हैं।
(File Photo: IANS)

मथुरा। राष्‍ट्रीय जनता दल के अध्‍यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव अकसर अपने विचित्र कामों की वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं। कांवड़ यात्रा के दौरान भगवान शिव का रूप धारण करने वाले तेज प्रताप इन दिनों भगवान कृष्‍ण की नगरी मथुरा के दौरे पर हैं। ब्रजवास के दौरान तेज प्रताप ने कान्‍हा का रूप धारण कर गायों के बीच मुरली बजाई और कहा कि यह स्वर्गिक आनंद है।

तेज प्रताप का यह ‘मुरलीधर’ अंदाज सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय हो रहा है। आरजेडी नेता ने इंस्‍टाग्राम एक विडियो अपलोड किया है, जिसमें वह भगवान कृष्‍ण की तरह से मुरली बजाते हुए गाय चराते दिखाई दे रहे हैं। उन्‍होंने सिर पर मोर पंख लगा भी लगा रखा है। उनके इस विडियो को अब तक 8 हजार बार देखा जा चुका है। वहीं 250 से ज्‍यादा कॉमेंट आ चुके हैं। कुरुक्षेत्र की यात्रा पर निकले तेज प्रताप ने अपने एक फोटो पर लिखे कैप्‍शन के जरिए अपनी इस यात्रा का मकसद जाहिर कर दिया। उन्‍होंने लिखा कुरुक्षेत्र में हूं। कोटि-कोटि प्रणाम यहां की पवित्र धरा को। पवित्र ब्रह्म सरोवर में स्नान कर महाभारत में भगवान श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन को दिए गए उपदेशों वाले पवित्र स्थान का भ्रमण किया।

2019-2020 का चुनाव भी महाभारत से मिलता जुलता है। कुरुक्षेत्र अपना बिहार है और लड़ाई भी जारी है। यह कोई पहली बार नहीं है, जब तेज प्रताप अपनी भक्ति के कारण चर्चा में आए हों। इससे पहले वह एक बार श्रीकृष्ण का रूप धरकर भी श्रीकृष्ण की पूजा कर चुके हैं। सावन के माह में तेज प्रताप ‘शिव अवतार’ में नजर आए थे। उन्‍होंने भगवान शिव का रूप धारण कर शिव की पूजा के लिए देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ धाम के लिए निकले थे। इस दौरान उनकी वेश-भूषा चर्चा का विषय बन गई थी। शिव की तरह कमर पर बाघ की खाल जैसा कपड़ा लपेटे और गेरुआ पोशाक पहने तेज प्रताप ने शिवभक्तों के साथ मंदिर में पूजा की थी। इस दौरान वह शंख भी बजाते नजर आए।

तेजप्रताप यादव बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री भी रह चुके हैं और फिल्म ‘रुद्रा द अवतार’ में काम कर रहे हैं। उन्होंने जून 2018 में ट्वीट करके इसके बारे में जानकारी दी थी। तेज प्रताप और उनके छोटे भाई तेजस्‍वी के बीच इन दिनों सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। पिछले दिनों तेज प्रताप ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को निशाने पर लेते हुए कहा था कि पार्टी के लोग मेरा फोन नहीं उठाते हैं और कहते हैं कि उन्हें ऐसा करने के लिए वरिष्ठ नेताओं की ओर से कहा गया है। मेरे और मेरे भाई के बीच में कोई मतभेद नहीं है। हमें उन तत्वों को पार्टी से निकालना होगा, जो हमें तोड़ना चाहते हैं। मैं चाहता हूं कि सीनियर नेता ऐसे लोगों को पहचानें और उनको बाहर करें।’ हालांकि बाद में उन्‍होंने यह भी कहा था कि उनका उनके भाई के साथ कोई मतभेद नहीं है।

– ईएमएस