साइबर अपराध का घिनौना खेल, परिवार की महिलाओं को मोबाइल नंबर सेक्स चैट ग्रुप में डाला


पश्चिम बंगाल के जादवपुर में साइबर अपराधियों ने फेक प्रोफाइल और फोटो के जरिए पॉर्न साइट्स पर एक परिवार का पता डाल दिया।
Photo/Twitter

कोलकाता । पश्चिम बंगाल के जादवपुर में साइबर अपराध चौंकाने वाला मामला सामने आया हैं। मामले में साइबर अपराधियों ने फेक प्रोफाइल और फोटो के जरिए पॉर्न साइट्स पर एक परिवार का पता डाल दिया। इतना ही नहीं सेक्स चैट ग्रुप में परिवार की महिलाओं के फोन नंबर जारी कर दिए। अब लगातार आ रहे अश्लील संदेश और वॉट्सएप कॉल से पूरा परिवार सदमे में है। परिवार को शक है कि किसी करीबी ने ही बदनाम करने के लिए ऐसा किया है। फिलहाल पीड़ित परिवार की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

परिवार की एक महिला ने बताया, अक्टूबर के पहले हफ्ते में किसी ने फेक फेसबुक प्रोफाइल बनाकर हमारे घर का पता अपलोड कर दिया। इसके बाद अलग-अलग सेक्स चैट ग्रुप्स में उन्होंने परिवार के फोन नंबर डाल दिए। 3 अक्टूबर से मुझे चैट में अश्लील संदेश आ रहे है। कुछ लोगों ने वॉट्सएप पर कॉल करना शुरू कर दिया। इसके बाद मैं बहुत परेशान हो गई इसके बाद पुलिस में शिकायत करने का निर्णय लिया।’
40 वर्षीय महिला ने बताया कि लगातार फोन कॉल के बाद लोग उनके घर तक आना शुरु कर दिया। उन्होंने बताया कि वॉट्सएप संदेश, कॉल और लगातार बजते डोर बेल से परेशान होकर हम सीसीटीवी कैमरा लगाया। यहां तक कि तीन भाषाओं (अंग्रेजी, हिंदी और बंगला) में लिखे पोस्टर के जरिए सोशल मीडिया पर परिवार के बारे में दी गई इस गलत जानकारी का खंडन भी किया। इसके बावजूद हम लोगों को नहीं रोक पाए। मामले की जांच कर रहे कोलकाता साइबर सेल के एक अधिकारी ने कहा, जांच बेहद नाजुक मोड़ पर है। हम अभी इस मामले में कुछ भी खुलासा नहीं कर सकते हैं। उधर परिवार की मदद कर रहे साइबर एक्सपर्ट बिवास चैटर्जी ने कहा,’यह साइबर अपराध का बेहद ही गंभीर मामला है। परिवार की बहू ने बताया, सीसीटीवी कैमरे लगाए लेकिन लोगों को नहीं रोक पाए। दरवाजे पर नोटिस बोर्ड लगाया तो उन्होंने उसकी फोटो भी सोशल मीडिया पर डालकर इस परिवार का हथकंडा बता दिया। हम डरे हुए और बेहद सदमे में हैं।

– ईएमएस