अमृतसर में रेल हादसे में ‘रावण’ की गई जान!


अमृतसर के पास इसी रेल लाईन पर खड़े होकर लोग रावण दहन देख रहे थे। पटाखों की आवाज के कारण ट्रेन की सिटी सुनाई नहीं दी और एक बड़ा हादसा हो गया। (Photo: IANS)

मां ने की बहू के लिए नौकरी की मांग

अमृतसर (ईएमएस)। ‎‎विजयादशमी के मौके पर देशभर में रावण दहन कर खुशियां मनाई गईं लेकिन अमृतसर में रावण की मौत से लोग दुखी हैं। दरअसल रेल हादसे में जिन 61 लोगों की मौत हुई है उन में से एक व्यक्ति ऐसा भी है जो शहर की रामलीला में रावण का किरदार निभाते था।

बता दें कि यह हादसा अमृतसर और मनावला के बीच फाटक नंबर 27 के पास हुआ है। यह हादसा जिस वक्त हुआ, उस समय वहां रावण दहन देखने के लिए लोगों की भीड़ जुटी हुई थी। बताया गया है कि रामलीला में रावण का रोल करने वाले दलबीर सिंह उस वक्त घटनास्थल पर ही मौजूद थे। तेज स्पीड में आती ट्रेन की चपेट में आकर उनकी भी मौत हो गई। घटना से उनके घर वाले सदमे में हैं। उनकी 8 महीने की बेटी भी है। उनकी मां ने सरकार से दलबीर की पत्नी को नौकरी दिलाने की अपील की है।

घटना के बाद पंजाब सरकार की ओर से मृतकों के परिजनों के लिए पांच-पांच लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया गया है। हादसे के बाद चश्मदीदों ने बताया ‎कि भीड़भाड़ वाले इलाके से गुजरते हुए ट्रेन की रफ्तार अमूमन कम होती है लेकिन हादसे के वक्त ट्रेन काफी तेजी से गुजरी। उनका कहना था कि ऐसा मंजर उन्होंने पहले कभी नहीं देखा। वे अपने परिजनों को हादसे के बाद पहचान नहीं पा रहे थे। एक चश्मदीद के मुताबिक हादसे के बाद हाथ-पैर मिल जाते थे। लेकिन यहां तो कुछ भी नहीं मिल रहा। हम पहचान नहीं पा रहे कि हमारे लोग कौन हैं।