पेप्सिको के खिलाफ ट्वीटर पर भड़का आक्रोश, प्रोडक्ट्स के बहिष्कार की धमकी


गुजरात के आलू किसानों के खिलाफ मुकद्दमा करने वाली मल्टीनेशनल कंपनी पेप्सिको के खिलाफ ट्वीटर पर लोगों का जबर्दस्त आक्रोश भड़क उठा है।
Photo/Twitter

अहमदाबाद। गुजरात के आलू किसानों के खिलाफ मुकद्दमा करने वाली मल्टीनेशनल कंपनी पेप्सिको के खिलाफ ट्वीटर पर लोगों का जबर्दस्त आक्रोश भड़क उठा है और उसके प्रोडक्ट्स इत्यादि का बहिष्कार करने की धमकी दी है। बता दें कि आलू के बीज के कॉपीराइट का उल्लंघन करने के मुद्दे पर पेप्सिको कंपनी ने उत्तरी गुजरात के बनासकांठा, साबरकांठा और अरवल्ली के चार किसानों के खिलाफ एक-एक करोड़ का दावा किया है। शुक्रवार को कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई 12 जून को मुकर्रर की है।

पेप्सिको कंपनी का दावा है कि आलू के किस्म एफसी-5 की खेती और उसकी बिक्री पर देश में कंपनी को 2016 में ही विशेष अधिकार मिला था। इसके बावजूद गुजरात के 4 किसानों ने आलू की बुवाई की। किसानों के इस खास प्रजाति के आलू उगाने पर पेप्सिको ने अब किसानों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है और डेढ़-डेढ़ करोड़ रुपये का मुआवज मांगा है।

पेप्सिको का कहना है कि किसानों ने कंपनी के प्रोडक्ट लेज चिप्स में इस्तेमाल होने वाले आलुओं की प्रजाती उगाई, जो कंपनी के अधिकारों का उल्लंघन करता है। गुजरात में इन 4 किसानों पर पेप्सिको के मुकदमा दर्ज कराने के बाद किसान लामबंद हो रहे हैं। इन किसानों के समर्थन में प्रदेश के 194 किसान कार्यकर्ताओं के हस्ताक्षर से एक पत्र केन्द्रीय कृषि मंत्रालय को भेजा गया है। इस पत्र में किसानों के अधिकारों के संरक्षण और उन्हें वित्तीय मदद की मांग की गई है। पत्र में गुजरात के आलू उपजाने वाले किसानों के खिलाफ पेप्सिको ने दर्ज कराए मुकदमे में हस्तक्षेप की मांग की गई है।

इस संदर्भ में भारतीय किसान संघ के उप प्रमुख अंबूभाई पटेल ने कहा कि कंपनी ऐसे मुकद्दमे दर्ज कर किसानों का डराने का प्रयास कर रही है, लेकिन हम किसानों के साथ खड़े हैं और उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। दूसरी ओर गुजरात के किसानों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज करने वाली पेप्सिको कंपनी का ट्वीटर पर जबर्दस्त विरोध शुरू हो गया है। लोगों का कहना है कि देश के गरीब किसानों की ऐसे ही हालत दयनीय है और ऐसे में पेप्सिको कंपनी ने उनके खिलाफ एक-एक करोड़ का दावा कर बेशर्मी का सबसे बड़ा उदाहरण दिया है। साथ ही लोगों ने पेप्सी के सभी ब्रांड और प्रोडक्ट्स का बहिष्कार करने की धमकी दी है।

– ईएमएस