एनडी तिवारी का पार्थिव शरीर लखनऊ लाया गया, दी गई श्रद्धांजलि


Photo : IANS

लखनऊ। उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी का पार्थिव शरीर शनिवार को लखनऊ लाया गया। उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए विधानभवन में रखा गया, जहां आयोजित श्रद्धांजलि सभा में प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत तमाम मंत्रियों व नेताओं ने उन्हें पुष्पाजंलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

नाईक ने कहा कि दिवंगत नेता तिवारी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दी हैं। वे लोकप्रिय राजनेता थे। सभी दल के नेता उनका सम्मान करते थे। उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के विकास में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। वे देश के एकलौते ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने दो राज्यों में मुख्यमंत्री पद का दायित्व निभाया। उन्होंने आंध्र प्रदेश के राज्यपाल एवं केंद्रीय मंत्री के पद पर भी अपनी सेवाएं दी।

इससे पहले लखनऊ एयरपोर्ट पर दिवंगत नेता का पार्थिव शरीर विमान से उतारा गया। यहां मुख्यमंत्री योगी व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, एन.डी. तिवारी की पत्नी उज्‍जवला व बेटे रोहित शेखर, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित, मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय, डीजीपी ओ.पी. सिंह सहित कई अन्य लोगों ने पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल दुबे ने भी दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि भारतीय राजनीति में एन.डी. तिवारी का बड़ा कद था। उनके निधन से समाज व राजनीतिक क्षेत्र में जो क्षति हुई है, वह अपूरणीय है। उन्हें हमेशा विकास पुरुष के रूप में याद किया जाएगा।

रालोद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि तिवारी जी सर्वमान्य नेताओं में थे। उनके निधन से राजनीति का एक अध्याय समाप्त हो गया है।

बसपा अध्यक्ष मायावती की तरफ से पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्र ने नारायण दत्त तिवारी के पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

यहां श्रद्धासुमन अर्पित करने वालों में बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन, समाजवादी नेता मुलायम सिंह यादव, मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, मंत्री सूर्य प्रताप शाही, मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी तथा कई अन्य नेता भी शामिल थे।

-आईएएनएस