महाराष्ट्र में जलसंकट गहराया, पलायन को मजबूर हुए बुलढाणा जिले के 210 गांवों के लोग


महाराष्ट्र एक बार फिर भीषण सूखे की चपेट में हैं। राज्य के कई इलाकों में भीषण जल संकट पैदा हो गया है।
Photo/Twitter

मुंबई। महाराष्ट्र एक बार फिर भीषण सूखे की चपेट में हैं। राज्य के कई इलाकों में भीषण जल संकट पैदा हो गया है। बुलढ़ाणा जिले के 210 गांवों में भीषण जल संकट की वजह से लोग पलायन करने को मजबूर हो गए हैं। राज्य के कई इलाकों में टैंकरों से पानी पहुंचाया जा रहा है। आपूर्ति किए जाने वाले पानी की मात्रा इतनी कम है कि लोगों को उनकी जरुरत से बहुत कम कम मात्रा में पानी मिल पा रहा है।

राज्य के बुलढाणा जिले के 210 गांवों में स्थानीय प्रशासन टैंकरों से जलापूर्ति कर रहा है। इन गांवों में पानी की आपूर्ति बनाए रखने के लिए 220 टैंकर लगाए गए हैं। इसके बाद भी लोगों की जरूरत भर के पानी की आपूर्ति नहीं की जा सकी है। पानी की कमी के कारण लोग गांव छोड़ने को मजबूर हैं। जिले के कई नदी, नाले, तलाब और बांध सूख चुके हैं। जिले में 91 बांध हैं, जिनमें से 55 बांध सूख गए हैं। जिले के बांधो में मात्र 4.47 फीसदी ही जल बचा है। कुल 13 तहसीलों में से 8 तहसीलों को राज्य सरकार ने सूखाग्रस्त घोषित किया है। यहां दिन प्रति दिन स्थिति गंभीर होती जा रही है।

– ईएमएस